Home नरेंद्र मोदी विशेष हम पदभार नहीं, कार्यभार के लिए जीते हैं : प्रधानमंत्री मोदी

हम पदभार नहीं, कार्यभार के लिए जीते हैं : प्रधानमंत्री मोदी

1757
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी के विभिन्न मोर्चों, प्रकोष्ठ, प्रकल्प, विभाग के पदाधिकारियों और सोशल मीडिया वॉलंटिअर्स एवं पार्टी समर्थकों के साथ बात की। नरेन्द्र मोदी ऐप के माध्यम से बातचीत करते हुए उन्होंने ‘टीम काशी’ के समन्वय पर जोर दिया और कार्यकर्ताओं से बतौर सांसद फीडबैक लिया। उन्होंने कहा कि पदभार एक व्यवस्था होती है और कार्यभार एक जिम्मेवारी होती है, और हम जिम्मेवारी के संस्कारों से पले बढ़े हैं। पीएम मोदी ने कहा, ”हम पदभार के लिए ही काम नहीं करते, कार्यभार के लिए जीते हैं।”

प्रधानमंत्री ने बताया कि अगले महीने 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक स्वच्छता ही सेवा का एक देशव्यापी अभियान शुरू होगा। काशी वासी इसमें उत्साहित होकर इसका हिस्सा बनें।

उन्होंने वाराणसी में 21 से 23 जनवरी के बीच होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस की सफलता के लिए काशी वासियों का आह्वान करते हुए कहा कि हम अपने अतिथियों का ऐसा सत्कार करें कि वे इसे भूल न पाएं। उन्होंने कहा, ”दुनिया भर के लोग काशी आएंगे और वे यहां आएंगे और यहां की क्या छवि लेकर जाएंगे इसपर हमें सोचना चाहिए। वर्षों बाद लोग अपनी मिट्टी के दर्शन करेंगे। काशी के लोगों के पास इन सबसे संवाद करने का सुनहरा अवसर है। हम इन्हें महान सभ्यता संस्कृति का दर्शन कराएंगे। पूरी काशी मेहमाननवाजी के लिए तैयार हो।”

मेडिकल हब बन गया काशी
पदाधिकारी डॉ मनोज ने काशी में स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए किए गए कार्यों की जानकारी मांगी। इसके जवाब में पीएम मोदी ने बताया कि आज काशी मेडिकल हब बन गया है। यही कारण है कि आज दूसरे राज्यों के लोग इलाज के लिए आ रहे हैं।

उन्होंने जानकारी दी कि वाराणसी में टाटा मेमोरियल कैंसर हॉस्पिटल शुरू हो गया है। बीएचयू के सर सुंदर लाल अस्पताल में एम्स की तर्ज पर विश्वस्तरीय सुविधा मुहैया कराई जा रही है। इसके अलावा उन्होंने आयुष्मान भारत योजना का भी जिक्र करते हुए कहा कि इसके तहत काशी में वेलनेस सेंटर भी खोले जाएंगे, ताकि लोग निरोग रह सकें। उन्होंने बताया कि इसके तहत देश में 10 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री ने प्रिवेंटिव हेल्थ के उपायों, जैसे- सम्पूर्ण टीकाकरण और स्वच्छता अभियान पर भी जोर दिया। 

OROP से खत्म हुईं मुश्किलें
उपेन्द्र राय 2001 में इंडियन नेवी से रिटायर हुए। उन्होंने बताया कि वे बच्चों को पढ़ा नहीं पा रहे थे, कई मुश्किलें थीं, लेकिन पीएम मोदी के ‘वन रैंक-वन पेंशन’ लागू करने के निर्णय से उन्हें दो लाख रुपये मिले और उनकी अधिकतर समस्याएं खत्म हो गईं। उपेन्द्र राय ने कहा कि वे प्रधानमंत्री को धन्यवाद देने के लिए मौका ढूंढ रहे थे।

पीएम मोदी ने कहा कि ‘वन रैंक-वन पेंशन’ ने सेना के लाखों जवानों की जिंदगी में एक सकारात्मक बदलाव लाया है। पीएम मोदी ने सर्विस वोटर रजिस्ट्रेशन के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा, ”एक नागरिक होने के नाते हम सभी का अधिकार भी है और कर्तव्य भी है कि हमारा नाम मतदाता सूची में हो। मतदान के अधिकार पर हमें गर्व होना चाहिए। इसके द्वारा हमें देश का भविष्य निर्धारित करने अवसर मिलता है।”

उन्होंने जानकारी दी कि इसके लिए www.servicevoter.nic.in पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध है। इसके तहत कोई भी फौजी अपना और अपने परिवार का नाम रजिस्टर्ड करवा सकता है और प्रॉक्सी वोट भी डाल सकता है।

दिमागी गंदगी से मुक्ति जरूरी
एक कार्यकर्ता आनंद श्रीवास्तव ने मिर्जापुर हाइवे को फोर लेन करने के लिए पीएम मोदी का आभार जताया। आनंद सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं और छोटी-छोटी सकारात्मक चीजों को सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं। पीएम ने मोदी ने उनकी इस आदत पर कहा, ”सोशल मीडिया को उपयोग करते हुए ध्यान रखना चाहिए कि हम गलत जानकारी को न फैलाएं। अपने मोबाइल से छोटे-छोटे सकारात्मक विडियो रिकॉर्ड करें और सोशल मीडिया पर शेयर करें।”

पीएम मोदी ने फेक न्यूज और वायरल होने वाली घटनाओं पर कहा, ”मैं तो कभी-कभी हैरान हो जाता हूं। मोहल्ले में तू-तू मैं-मैं हर देश में होता होगा। कभी गांव को भनक तक नहीं लगती थी। मगर आज दो पड़ोसियों की लड़ाई को भी सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया जाता है और वह नेशनल न्यूज बन जाती है।”

उन्होंने कहा, ”कभी-कभी लोग मर्यादाएं भूल जाते हैं। देखते भी नहीं हैं कि यह सही है या नहीं। लोग ऐसे शब्दों का प्रयोग करते हैं, जो बेहद अशोभनीय हैं। महिलाओं को भी नहीं छोड़ते हैं। कोशिश करें कि सोशल मीडिया का प्रयोग पॉजिटिव चीजों के लिए करें। इसे किसी पार्टी से ना जोड़ें। स्वच्छता अभियान हमारी दिमाग की स्वच्छता से भी जुड़ा हुआ है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि सोशल मीडिया का उपयोग कर हम कैसे सकारात्मक माहौल बना पाएं इसके लिए मार्गदर्शन करें। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे बदलते भारत की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करें। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम जहां भी होंगे उन्हें सुकून पहुंचता होगा। वे कहते थे कि सकारात्मक खबरों का प्रसार होना चाहिए।

भारत में अब हर गांव में बिजली है, स्कूल है , शौचालय है, सबसे अधिक मोबाइल बनाने वाला है। सबसे तेज बढ़ने वाला एविएशन मार्केट है। भारत सबसे तेज अर्थव्यवस्था है। भारत दुनिया में सबसे तेज गरीबी मिटा रहा है। भारत में एसी ट्रेन से ज्यादा हवाई जहाज से सफर कर रहा है।

पीएम मोदी ने आह्वान किया कि सोशल मीडिया का उपयोग कभी भी गंदगी फैलाने का उपयोग न करें। पीएम मोदी ने कहा,  ”हमारा स्वच्छता अभियान दिमागी स्वच्छता से भी जुड़ा हुआ है। कितनी उत्तम बातों को फैलाएं और पवित्र माहौल बनाएं।” उन्होंने कहा कि जो भी गंदगी फैलाने वाले लोग हैं उन्हें तवज्जो ही मत दीजिए। सकारात्मक खबरें समाज की ताकत बनती हैं।

Leave a Reply