Home समाचार सेशेल्स के साथ उच्च स्तरीय कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने किया कई...

सेशेल्स के साथ उच्च स्तरीय कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने किया कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन

416
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को सेशेल्‍स के राष्‍ट्रपति वावेल रामकलावन के साथ एक वर्चुअल मीटिंग की। इस उच्च स्तरीय कार्यक्रम में उन्‍होंने कई भारतीय विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति रामकालावन के साथ संयुक्त रूप से राजधानी विक्टोरिया में मजिस्ट्रेट न्यायालय के नए भवन, एक मेगावाट की क्षमता वाले एक सौर ऊर्जा संयंत्र और सामुदायिक विकास की 10 प्रमुख परियोजनाओं का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री मोदी ने सेशेल्स को एक तीव्र गश्ती पोत भी सौंपा।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘सेशेल्स, भारत के ‘सागर’- ‘क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा और विकास’ के विजन के केन्द्र में है। भारत को सेशेल्स की सुरक्षा क्षमताओं और उसकी अवसंरचना व विकास जरूरतों को पूरा करने में उसका भागीदार बनने का सम्मान हासिल हुआ है। आज हमारे संबंधों में एक और मील का पत्थर जुड़ गया है। हम हमारी विकास भागीदारी के तहत पूरी हुईं कई परियोजनाओं के संयुक्त रूप से शुभारम्भ के लिए मिल रहे हैं।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘सभी लोकतंत्रों के लिए एक निष्पक्ष, स्वतंत्र और दक्ष न्यायिक प्रणाली महत्वपूर्ण है। हम सेशेल्स में न्यू मजिस्ट्रेट्स कोर्ट बिल्डिंग के निर्माण में अंशदान देकर काफी खुश हैं। इस अत्याधुनिक इमारत का निर्माण कोविड-19 महामारी के इस मुश्किल दौर में पूरा किया गया है। मुझे भरोसा है कि इसे हमारी गहरी और स्थायी दोस्ती के प्रतीक के रूप में लंबे समय तक याद किया जाएगा। भारत का हमेशा से विकास सहयोग के मानव केन्द्रित दृष्टिकोण में विश्वास रहा है। इस दर्शन की झलक आज शुरू होने जा रही 10 बेहद प्रभावी सामुदायिक विकास परियोजनाओं में दिखाई देती है। ये परियोजनाएं सेशेल्स में रहने वाले समुदायों की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव लेकर आएंगी।’

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘भारत सेशेल्स की समुद्री सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। आज, हम सेशेल्स तटरक्षक बल को एक नया, अत्याधुनिक, मेड इन इंडिया फास्ट पेट्रोल वीसल्स सौंप रहे हैं। यह वीसल उसके समुद्री संसाधनों की रक्षा में सहायक होगा।’

उन्होंने कहा, ‘द्वीप देशों के लिए जलवायु परिवर्तन से एक अलग खतरा पैदा हो गया है। इसलिए, मैं खुश हूं कि आज हम भारत की सहायता से सेशेल्स में बने एक मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्र को हस्तांतरित कर रहे हैं। इन सभी परियोजनाओं से सेशेल्स की विकास प्राथमिकताओं का पता चलता है, जो प्रकृति का ख्याल रखते हुए विकास करने से जुड़ी हैं।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘भारत कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में सेशेल्स के मुख्य भागीदार की भूमिका निभाकर सम्मानित महसूस करता है। इस दौर में, हम सेशेल्स को आवश्यक दवाएं और टीकों की 50,000 ‘मेड इन इंडिया’ खुराकों की आपूर्ति करने में सक्षम हुए हैं। सेशेल्स ‘मेड इन इंडिया’ कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने वाला पहला अफ्रीकी देश था। मैं राष्ट्रपति रामकलावन जी को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि भारत कोविड के बाद के आर्थिक सुधार के लिए उनके प्रयासों में सेशेल्स के साथ मजबूती के साथ खड़ा रहेगा।’

Leave a Reply