Home समाचार पीएम मोदी ने गुजरात को दी कई विकास परियोजनाओं की सौगात, गांधीनगर-वाराणसी...

पीएम मोदी ने गुजरात को दी कई विकास परियोजनाओं की सौगात, गांधीनगर-वाराणसी ट्रेन को दिखाई हरी झंडी

303
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को गुजरात को कई डेवलपमेंट प्रोजेक्ट की सौगात दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने गांधीनगर के पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन को लोकार्पण किया, पुनर्निर्मित वडनगर रेलवे स्टेशन उद्घाटन किया और गांधीनगर-वाराणसी ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाई। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने गांधीनगर-वरेथा मेमू ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाई। उन्होंने अहमदाबाद में गुजरात साइंस सिटी का भी लोकार्पण किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि विकास के पथ पर अग्रसर होने के लिए हमें शहरी विकास की पुरानी सोच को छोड़ना होगा और आधुनिक तौर तरीकों का उपयोग कर निर्माण करना होगा। उन्होंने कहा कि हमारे देश का लक्ष्य कंक्रीट का स्ट्रक्चर खड़ा करना नहीं हैं, बल्कि ऐसे इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करना है, जिसका अपना करेक्टर हो। उन्होंने कहा कि बेहतर पब्लिक स्पेस हमारी जरूरी आवश्यकता है। 21वीं सदी के भारत की जरूरत 20वीं सदी के तरीकों से पूरी नहीं हो सकती।

पीएम मोदी ने कहा कि हम रेलवे को एक सेवा के तौर पर नहीं बल्कि एसेट की तरह विकसित कर रहे हैं। आज देशभर में प्रमुख रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है। टियर 2 और टियर 3 शहरों के रेलवे स्टेशन भी अब वाई-फाई सुविधा से लैस हो रहे हैं। ब्रॉड गेज पर मानव रहित क्रॉसिंग को पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज वडनगर भी इस विस्तार का हिस्सा बन चुका है। वडनगर का नया स्टेशन वाकई बहुत आकर्षक लग रहा है। नई ब्रॉडगेज लाइन बनने से वडनगर-मोढेरा-पाटन हेरिटेज सर्किट अब बेहतर रेल सेवा से कनेक्ट हो गया है। उन्होंने कहा कि आज भारतीय रेलवे की छवि बेहतर हो रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नए भारत के विकास की गाड़ी दो पटरियों पर एक साथ चलते हुए ही आगे बढ़ेगी। एक पटरी आधुनिकता की, दूसरी पटरी गरीब, किसान और मध्यम वर्ग के कल्याण की है। अहमदाबाद में बने साइंस सिटी के बारे में पीएम मोदी ने कहा कि साइंस सिटी प्रोजेक्ट रीक्रिएशन और क्रिएटिविटी का मिश्रण है। एक्वाटिक्स गैलरी तो बहुत रोचक है। यह न केवल हमारे देश का बल्कि एशिया के शीर्ष एक्वेरियम में से एक है। उन्होंने कहा कि बच्चों को नई सीख के लिए अवसर देना होगा। साइंस सिटी बच्चों को सिखाने का नया प्लेटफार्म होगा।

Leave a Reply