Home समाचार जी-20 शिखर सम्मेलन: प्रधानमंत्री मोदी का जलवा, करीब आने के लिए बेताब...

जी-20 शिखर सम्मेलन: प्रधानमंत्री मोदी का जलवा, करीब आने के लिए बेताब दिखे विश्व नेता

208
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान बुधवार सुबह इंडोनेशिया के बाली में मैनग्रोव फॉरेस्ट का दौरा किया। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने यहां पीएम मोदी का स्वागत किया। प्रधानमंत्री मोदी ने ‘तमन हटन राया नगुराह राय’ मैनग्रोव फॉरेस्ट में जी20 नेताओं के साथ पौधारोपण कार्यक्रम में भाग लिया और पौधे लगाए। विश्व के सबसे ताकतवर नेताओं के बीच काले चश्मे में प्रधानमंत्री मोदी की एक अलग ही धमक देखने को मिल रही थी। पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान विश्व नेता प्रधानमंत्री मोदी के करीब आने के लिए बेताब दिख रहे थे। देखिए फोटो-

एक समय ऐसा था जब भारत अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रमों में अलग-थलग दिखता था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज चर्चा का केंद्र बना हुआ है। फोटो देखने पर आपको साफ हो जाएगा कि किस तरह प्रमुख विश्व नेता प्रधानमंत्री मोदी को सुनने के लिए उनके पास आना चाहते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों और ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक भी प्रधानमंत्री मोदी को घेरे हुए थे। एक दिन पहले भी तमाम नेताओं में प्रधानमंत्री से मिलने की होड़ लगी हुई थी।

जी20 शिखर सम्मेलन के शुरू होते ही अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पास आए और गर्मजोशी के साथ मुलाकात की। राष्ट्रपति बाइडेन मुस्कुराते हुए प्रधानमंत्री मोदी से गले मिले और बातचीत भी की। देखिए वीडियो-

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल भी हो रहा है। इस वीडियो में दिख रहा है कि राष्ट्रपति बाइडेन प्रधानमंत्री मोदी से मिलने जा रहे हैं। देखिए वीडियो-

इसके पहले भी जी-7 बैठक के दौरान बर्लिन में प्रधानमंत्री मोदी से हाथ मिलाने खुद अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन दौड़े आए थे।

देखिए मुलाकात की कुछ और तस्वीरे-

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के साथ प्रधानमंत्री मोदी

सेनेगल के राष्ट्रपति मिकी साल के साथ पीएम मोदी

नीदरलैंड मार्क रूट के राष्ट्रपति के साथ प्रधानमंत्री मोदी

इससे पहले इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने आयोजन स्थल पर प्रधानमंत्री मोदी का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया।

मैंग्रोव एलायंस फॉर क्लाइमेट (एमएसी) इंडोनेशिया और यूएई की एक संयुक्त पहल है। अब भारत भी इसमें शामिल हो गया है। भारत में करीब 5000 वर्ग किलोमीटर में फैली मैंग्रोव की 50 से अधिक प्रजातियां पाई जा सकती हैं। भारत शुरू से मैंग्रोव के संरक्षण पर जोर देता रहा है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति समापन समारोह में भारत को जी-20 की अध्यक्षता सौंपेंगे। भारत आधिकारिक तौर पर 1 दिसंबर 2022 से जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा। इसके बाद भारत 2023 में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा।

Leave a Reply