Home समाचार शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन संयोग नहीं, बल्कि प्रयोग है: दिल्ली की...

शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन संयोग नहीं, बल्कि प्रयोग है: दिल्ली की जनसभा में पीएम मोदी

261
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पूर्वी दिल्ली के कड़कड़डूमा में चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सीलमपुर हो, जामिया हो या फिर शाहीन बाग बीते कई दिनों से नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रदर्शन हुए। क्या ये प्रदर्शन सिर्फ एक संयोग हैं। नहीं, ये संयोग नहीं, ये प्रयोग हैं। इसके पीछे राजनीति का एक ऐसा डिजाइन है, जो राष्ट्र के सौहार्द को खंडित करने का इरादा रखता है।

पीएम मोदी ने कहा कि आप और कांग्रेस राजनीति का खेल खेल रहे हैं। संविधान और तिरंगा सामने रखकर ज्ञान बांटा जा रहा है और मुख्य मुद्दों से ध्यान बंटाया जा रहा है। यह मानसिकता यहीं रोकना जरूरी है। दिल्ली में अराजकता को नहीं बढ़ने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में प्रदर्शन से दिल्ली से नोएडा आने जाने वाले लोगों को दिक्कत हो रही है। दिल्ली की जनता देख रही है, वह चुप है और वोट बैंक की इस राजनीति को देखकर दिल्ली का नागरिक गुस्से में भी है। उन्होंने कहा कि इस मानसिकता को यहीं रोकना जरूरी है। साजिश रचने वालों की ताकत बढ़ी तो कल फिर कल किसी और सड़क को बंद किया जाएगा, किसी और गली को रोका जाएगा। हम दिल्ली को इस अराजकता में छोड़ सकते हैं। इसको रोकने का काम सिर्फ दिल्ली के लोग कर सकते हैं। बीजेपी को दिया गया हर वोट यह कर सकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का भारत, नफरत की राजनीति से नहीं, विकास की राष्ट्रनीति से चलेगा। विकास की यही राष्ट्रनीति देश को गति भी देती है और देश को नई ऊंचाई पर भी ले जाती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दिल्ली सिर्फ एक शहर नहीं है, बल्कि ये हमारे हिंदुस्तान की धरोहर है। ये भारत के भिन्न-भिन्न रंगों को एक जगह समेटे हुए एक जीवित परंपरा है। ये दिल्ली सबका स्वागत करती है, सत्कार करती है। ये चुनाव दिल्ली के इसी गौरव को 21वीं सदी की पहचान और शान देने के संकल्प का है। ये चुनाव एक ऐसे दशक का पहला चुनाव है, जो 21वीं सदी के भारत का और भारत की राजधानी का भविष्य तय करने वाला है।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी, जो अपने हर संकल्प को पूरा करती है, जो कहती है, वो करती है। भाजपा के लिए देश का हित, देश के लोगों का हित सबसे ऊपर है। भाजपा निगेटिविटी में नहीं, बल्कि पॉजिटिविटी में भरोसा रखती है।

जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने संसद से कानून पास कराकर दिल्ली के अनाधिकृत कॉलोनियो में रहने वाले 40 लाख से अधिक लोगों को चिंता मुक्त किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली भाजपा ने संकल्प लिया है कि इन कॉलोनियों के तेज विकास के लिए डेवलपमेंट बोर्ड बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जहां झुग्गी है, वहां पक्का घर भी बनेगा।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले 5 सालों में देशभर में गरीबों के लिए 2 करोड़ घर बनाए हैं, लेकिन दिल्ली में पीएम आवास योजना को लागू नहीं किया गया, जिससे यहां के निवासियों को इसका लाभ नहीं मिल पाया।

पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 से  मुक्ति 70 साल बाद मिली। रामजन्मभूमि पर फैसला आजादी के 70 साल बाद आया। करतारपुर साहिब कॉरिडोर 70 साल बाद बना। भारत-बांग्लादेश सीमा विवाद 70 साल बाद हल हुआ। नागरिकता संशोधन कानून से हिंदुओं, सिखों और ईसाईयों को नागरिकता का अधिकार 70 साल बाद मिला। नेशनल वॉर मेमोरियल और नेशनल पुलिस मेमोरियल बनने में 50-60 साल लग गए। 84 के सिख नरसंहार में दोषियों को सजा 34 साल बाद मिली। वायुसेना को नेक्स्ट जनरेशन लड़ाकू विमान 35 साल बाद मिले। बेनामी संपत्ति कानून 28 साल बाद लागू हुआ। शत्रु संपत्ति कानून 50 बाद लागू हुआ। बोडो आंदोलन समझौता 50 साल बाद हुआ। पूर्व सैनिकों को OROP का लाभ 40 साल बाद मिला। मोदी ने कहा कि ये समस्याएं पहले भी सुलझाई जा सकती थीं, लेकिन जब स्वार्थनीति ही राजनीति का आधार हो, तो फैसले टलते भी हैं और अटकते भी हैं।  

पीएम मोदी ने कहा कि पहली बार लाल बत्ती के रौब से देश के लोगों को मुक्ति मिली है। सामान्य वर्ग के गरीबों को आरक्षण का अधिकार मिला। 5 लाख रुपये तक की आय पर इनकम टैक्स जीरो हुआ। पहली बार काले धन की हेरा-फेरी करने वाली 3.5 लाख संदिग्ध कंपनियों पर ताला लगा। पहली बार, देश के हर किसान परिवार के बैंक खाते में सीधी मदद पहुंची। पहली बार किसानों, मजदूरों और छोटे व्यापारियों को पेंशन की सुविधा मिली। पहली बार 50 करोड़ गरीबों को 5 लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिली। पहली बार 10 करोड़ गरीब परिवारों तक टॉयलेट की सुविधा पहुंची। पहली बार 8 करोड़ गरीब बहनों की रसोई में गैस का मुफ्त कनेक्शन पहुंचा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दिल्ली और देश के अन्य शहरों में प्रदूषण की स्थिति से निपटने के लिए भी केंद्र सरकार गंभीरता से प्रयास कर रही है। इस साल के बजट में 4,400 करोड़ रुपए शहरों में प्रदूषण को कम करने के लिए रखे गए हैं।

 

Leave a Reply