Home समाचार केरल में पीएफआई ने कथित ‘RSS कार्यकर्ता’ को खुलेआम हथकड़ी लगाकर निकाली...

केरल में पीएफआई ने कथित ‘RSS कार्यकर्ता’ को खुलेआम हथकड़ी लगाकर निकाली रैली, वीडियो सामने आने के बाद बढ़ा विवाद

945
SHARE

केरल में बीते दिनों पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने अपने स्थापना दिवस पर रैली निकाली थी। इस रैली का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसे लेकर विवाद बढ़ गया है। इस भड़काऊ वीडियो में पीएफआई के लोग कथित ‘RSS कार्यकर्ताओं’ को हथकड़ी पहनाकर बीच सड़क पर घुमाते नजर आ रहे हैं। हालांकि पीएफआई ने इसे सड़कों पर लोगों द्वारा किया गया नाटक बताया है। लेकिन जिस तरह से इसका प्रदर्शन किया गया है, उससे पीएफआई के खतरनाक इरादों का पता चलता है। 

पीएफआई के इस नाटक का मंचन केरल के मल्लपुरम जिले की सड़क पर किया गया। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि पीएफआई ने कैसे आरएसएस की तुलना अंग्रेजों से की है। उन्होंने आरएसएस के वर्दी में लोगों को चेन से बांधा है। इस दौरान वह चेन बांधकर युवाओं के साथ रैली निकाल रहे हैं। इसके साथ ही वह पीछे से हाथों में लाठी-डंडे लिए और ‘अल्लाह-हु-अकबर’ के नारे लगाते हुए भी नजर आ रहे हैं।

पीएफआई के महासचिव अनीस अहमद ने बचाव करते हुए कहा कि यह रैली में शामिल लोगों द्वारा किया गया नाटक है। इसका थीम 1921 में अंग्रेजों के खिलाफ की गई मापिला क्रांति से संबंधित है। यह मालाबार के लोगों के इतिहास को दर्शाता है, जिन्होंने 1921 में अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाईयां लड़ी थीं।

इससे पहले गुरुवार को पीएफआई के महासचिव अहमद ने कर्नाटक में ‘पॉपुलर फ्रंट डे 2021’ पर एक सभा को संबोधित किया था, इस दौरान उन्होंने आरएएस के खिलाफ आस्था को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा कि मुसलमानों को राम मंदिर के निर्माण के लिए दान नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह आरएसएस का मंदिर है।

अहमद ने अपने संबोधन में कहा था कि मैं सभी मुस्लिम व्यवसायियों और दुकान के मालिकों से यह कहना चाहता हूं कि यदि आपके पास थोड़ी सी भी हिम्मत है, तो इन सभी आरएसएस के लोगों को एक भी रुपया न दें जो दान के लिए पूछ रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यह राम के लिए मंदिर नहीं है, यह आरएसएस का मंदिर है और उसके लिए मुसलमानों के पैसे से एक भी ईंट नहीं लगनी चाहिए। केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने अनीस को राम मंदिर दान अभियान पर भड़काऊ टिप्पणी करने के लिए जमकर फटकार लगाई। उन्होंने PFI पर निर्दोष मुस्लिम युवाओं को बहकाने का आरोप लगाया।

कर्नाटक के गृहमंत्री बासवराज बोम्मई ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के महासचिव अनीस अहमद के भाषण को ‘देश विरोधी’ और ‘नफरत भरा’ करार दिया है। शुक्रवार यानि 19 फरवरी, 2021 को बोम्मई ने कहा कि उन्होंने पुलिस से इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने के लिए कहा है।

Leave a Reply