Home समाचार सोनिया गांधी से सवाल करने की हिम्मत नहीं रखने वाले कांग्रेसी उठा...

सोनिया गांधी से सवाल करने की हिम्मत नहीं रखने वाले कांग्रेसी उठा रहे हैं प्रश्न काल स्थगित होने पर सवाल!

516
SHARE

संसद का मॉनसून सत्र 14 सितंबर से शुरू हो रहा है। कोरोना महामारी के संकट को देखते हुए संसद सत्र को लेकर कई बदलाव किए गए हैं। इस बार प्रश्न काल को स्थगित रखने का फैसला किया गया है और इस बात को लेकर कांग्रेस और दूसरे विरोधी दल सवाल उठा रहे हैं। इस मुद्दे को लेकर एक बार कांग्रेस और विरोधी दलों का दोगलापन सामने आ गया है। जो कांग्रेसी अपने अध्यक्ष से सवाल करने की हिम्मत नहीं रखते हैं वो आज कोरोना संकट के कारण प्रश्न काल स्थगित करने को लेकर सवाल उठा रहे हैं।

यह कांग्रेस और दूसरे दलों की Hypocrisy है, क्योंकि लॉकडाउन के मद्देनजर राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र, केरल और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों के विधानसभा सत्र के दौरान प्रश्न काल को स्थगित रखा गया था लेकिन इन लोगों ने तब सवाल खड़े नहीं किए लेकिन अब सवाल खड़े कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक पिछले 8 संसद सत्रों के दौरान प्रश्न काल के लिए 162 घंटे दिए एलॉट किए गए, लेकिन इनमें से सिर्फ 59 घंटों का ही सदुपयोग किया जा सका और 102 से ज्यादा घंटे हंगामा और Adjournment के कारण बर्बाद हो गए। 

पूरे विश्व में कोरोना संकट का प्रकोप जारी है और इसे देखते हुए मॉनसून सत्र को लेकर कई बदलाव किए गए हैं। लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही पहले दिन को छोड़ कर दोपहर 3 बजे से शाम 7 बजे तक होगी। पहले दिन दोनों ही सदन सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक चलेंगे। इसके अलावा सांसदों के बैठने की जगह में भी बदलाव किए गए हैं, ताकि कोरोना के दौर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके। इस बार का सत्र शनिवार और रविवार को भी चलेगा,ताकि संसद का सत्र जितने घंटे चलना जरूरी है, उस समयावधि को पूरा किया जा सके। इस सत्र शून्य काल होगा और सांसद जनता से जुड़े जरूरी मुद्दे भी उठा सकेंगे। 

Leave a Reply