Home समाचार पीएम मोदी से मिले पाकिस्तानी शरणार्थी, CAA के लिए दिया धन्यवाद

पीएम मोदी से मिले पाकिस्तानी शरणार्थी, CAA के लिए दिया धन्यवाद

485
SHARE

पाकिस्तान के शरणार्थी अब नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में खुलकर सामने आने लगे हैं। शनिवार को दिल्ली और हरियाणा में रह रहे पांच हजार से अधिक पाकिस्तानी शरणार्थी दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पहुंचे। ये पदयात्रा कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देने के लिए बीजेपी मुख्यालय तक जाना चाह रहे थे, लेकिन पुलिस ने इनमें से कुछ शरणार्थियों को ही बीजेपी कार्यालय तक जाने की अनुमति दी। बीजेपी कार्यालय पहुंच कर शरणार्थियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा को नागरिकता कानून के लिए धन्यवाद दिया।

जंतर-मंतर पहुंचे शरणार्थियों में महिलाओं, बच्चों समेत बड़ी संख्या में बुजुर्ग शामिल थे। शरणार्थियों ने बताया कि ये सभी पाकिस्तान से आकर दिल्ली और हरियाणा के तमाम स्थानों पर लंबे समय से रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीएए ने शरणार्थियों को देश की नागरिकता दिलाई है। सरकार ने सीएए लागू कर किसी का हक नहीं छीना है। फिर भी पता नहीं क्यों लोग इस कानून का विरोध कर रहे हैं।

पाकिस्तानी शरणार्थियों से मुलाकात के दौरान बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, ‘नागरिकता संशोधन विषय हमारे घोषणा पत्र से लेकर हमारी सोच में शुरु से विद्यमान था। देश की जनता ने हमें ताकत दी, हमारे सांसद चुनकर आए, और सांसदों के माध्यम से ही कानून बनता है। इस तरह आपको नागरिकता देने का काम हुआ है।

नड्डा ने कहा कि सीएए से पहले भारत आए शरणार्थियों के बच्चों के स्कूल-कॉलेजों में दाखिला नहीं होता था, वो भारत में अपना घर नहीं बना सकते थे, नरेन्द्र मोदी जी ने आपका रास्ता साफ किया है। अब आप भारत के नागरिक हैं और भारत के नागरिक के सभी अधिकार आपको प्राप्त हैं।

नड्डा ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी जी ने जब नागरिकता संशोधन कानून बना दिया, जिसके आधार पर शरणार्थियों को नागरिकता मिल रही है, तब विपक्षियों ने वोट बैंक की राजनीति करते हुए, लोगों को गुमराह करना शुरु किया। विपक्षी दल लोगों को गुमराह कर रहे हैं कि इससे उनकी नागरिकता चली जाएगी।

नड्डा ने सीएए का विरोध करने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर करारा हमला बोला। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को नागरिकता संशोधन अधिनियम की कोई जानकारी नहीं हैं। मैं राहुल गांधी से कहता हूं कि वो नागरिकता संशोधन अधिनियम पर 10 लाइन बोलकर दिखाएं। यह कांग्रेस का दुर्भाग्य है कि उसके नेतृत्व के पास बहुत कम दिमाग है।

बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि उस समय महात्मा गांधी ने कहा था कि जो लोग पाकिस्तान में हैं और हिन्दू, जैन और बौद्ध होने के कारण सुरक्षित नहीं है, उन्हें भारत लाने का प्रयास किया जाना चाहिए और उन्हें जीवन जीने का अधिकार दिया जाना चाहिए। नेहरू जी और मनमोहन सिंह ने भी इसी तरह की बात कही। पीएम मोदी ने जब यह करके दिखा दिया तो इन्होंने देश से ऊपर वोट को रखा और देश को गुमराह करने का काम किया। करोड़ों लोग आ जाएंगे कहा गया, जबकि यह उन लोगों के लिए है जो यहां रह रहे हैं।

Leave a Reply