Home पोल खोल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के झूठे TWEETS और बयान का...

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के झूठे TWEETS और बयान का सहारा लेकर भारत को बदनाम करने की साजिश कर रहा है पाकिस्तान और पाकिस्तानी मीडिया

808
SHARE

राजनीति अपनी जगह है, लेकिन देश के खिलाफ कुछ भी बोलने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हजार बार सोचना चाहिए कि राजनीतिक स्वार्थ की चाशनी में लिपटे उनके बयानों का क्या हश्र हो सकता है ? कम से कम उनके बयानों से देश का, देश का छवि का अपमान तो नहीं ही होना चाहिए। अफसोस, ऐसा ही हो रहा है। राहुल गांधी के देश के खिलाफ दिए बयानों का इस्तेमाल पाकिस्तान सरकार और पाकिस्तानी मीडिया भारत को बदनाम करने में कर रहा है। इसके एक-दो नहीं कई उदाहरण सामने आ रहे हैं।

पहले बात पाकिस्तानी मीडिया की। यूं तो भारतीय सेना और भारत के खिलाफ मनगढ़ंत, झूठ के पुलंदे पाकिस्तानी मीडिया में आते ही रहते हैं। हालांकि इनकी आवाज नक्कारखाने में तूती के बराबर भी नहीं है। ऐसी हालात में अब पाकिस्तानी मीडिया राहुल गांधी के झूठे बयानों और ट्वीट्स का सहारा ले रहा है।

पाकिस्तानी अखबार Tribune express ने राहुल गांधी के पुलवामा से संबंधित दिए गए बेमतलब के बयान को आधार बनाकर खबर प्रकाशित की है कि पुलवामा पर राहुल गांधी के तीन सवाल जायज हैं। अगर भारतीय अधिकारी राहुल गांधी द्वारा उठाए गए सवालों का ईमानदार जवाब देते हैं, तो पुलवामा हमले के आसपास के रहस्य को निश्चित रूप से सुलझाया जा सकता है।

हकीकत यह है कि पुलवामा में रहस्य जैसा कुछ बचा ही नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी के साहसी नेतृत्व में देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि पुलवामा का पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब मिला। पाकिस्तान की सीमा में धुसकर भारतीय रणबांकुरों ने आतंकियों और उनके ठिकानों को पूरी तरह नेस्तनाबूत कर दिया। पाकिस्तानपरस्त आतंकियों और सरकार को सपने में भी उम्मीद नहीं होगी कि भारत तत्काल ही इतना बड़ा ‘आक्रमण’ कर सकता है।

PTV News ने भी राहुल गांधी के उस ट्वीट को रिट्वीट किया है, जिसमें राहुल गांधी खुद झूठ की वकालत करते हुए भारत को बदनाम कर रहे हैं। दुनिया जानती है कि पीएम मोदी के प्रयासों से न सिर्फ अब हम वैक्सीनेशन में 150 करोड़ डोज का आंकड़ा सबसे पहले पार कर चुके हैं, बल्कि कोरोना की दूसरी लहर में कई देशों की हमने और कई देशों ने हमारी मदद की, जिससे भारत में मौतों का ग्राफ कम रहा।

The Washington post के कॉलमिस्ट और पत्रकार हामिद मीर ने भी राहुल गांधी के ट्वीट को रिट्वीट किया है। मीर ने अतिश्योक्तिपूर्ण चित्रण करते हुए राहुल के ट्वीट को सर्जिकल स्ट्राइक जैसा बताया है। साथ ही कहा है कि ट्वीट ने उन लोगों में से कई को परेशान कर दिया जो राफेल सौदे का हिस्सा थे। राहुल गांधी जो खुद घोटालों की मनमोहन सरकार का हिस्सा थे, वे इस पर सिर्फ अपनी जगहंसाई करा रहे हैं।

पाकिस्तानी सरकार में इंफोर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्टर चौधरी फवाद हुसैन भी कहां पीछे रहने वाले थे। हुसैन ने राहुल के उस ट्वीट को रिट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने पीएम और अनिल अंबानी के खिलाफ झूठ की इमारत खड़ी करने की कोशिश की है। इस तरह के शर्मनाक ट्वीट करके कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ पाक सरकार और उसके हिंदुस्तान विरोधी मीडिया को भारत का अपमान करने का ही मौका देते हैं।

 

Leave a Reply