Home समाचार UN के मंच से पीएम मोदी ने कहा- हमारा सिद्धांत सबका साथ,...

UN के मंच से पीएम मोदी ने कहा- हमारा सिद्धांत सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास

374
SHARE

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के गैर-स्थायी सदस्य (2021-22) के रूप में भारत के निर्विरोध चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (ECOSOC) के सत्र को संबोधित किया। 

पीएम मोदी ने कहा कि इस साल हम संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इंसान की प्रगति में संयुक्त राष्ट्र का बड़ा योगदान है। दूसरे विश्व युद्द के बाद संयुक्त राष्ट्र के 50 फाउंडिंग मेंबर्स में भारत भी शामिल था। उस वक्त से लेकर अब तक काफी चीजें बदल गई हैं। अब संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्य हैं। उन्होंने कहा कि भारत ने शुरुआत से ही संयुक्त राष्ट्र के विकास कार्यों और ECOSOC को समर्थन दिया है। ECOSOC के पहले अध्यक्ष भारतीय थे। इस मौके पर पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में सुधार को लेकर भी अपील की। उन्होंने कहा कि आज कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप ने इसके पुनर्जन्म और सुधार के नए अवसर प्रदान किए हैं और इस मौके को गंवाना नहीं चाहिए। 

संयुक्त राष्ट्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत में इंसानों की कुल आबादी का छठा हिस्सा रहता है। हमें अपना महत्व और जिम्मेदारियां पता हैं। हमें पता है कि अगर हम विकास के लक्ष्यों को पूरा करते हैं तो ग्लोबल लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमारा सिद्धांत सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास है।

अपनी सरकार के विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले साल हमने अपने राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती मनाई, इस दौरान भारत के 600,000 गांवों में पूरी तरह से सैनिटाइजेशन के लक्ष्य को पूरा किया गया। 5 वर्षों में भारत ने 10 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया, जिसने हमारे ग्रामीण स्वच्छता कवर 38 फीसदी से बढ़कर 100 हो गया। हमारी ‘हाउसिंग फॉर ऑल स्कीम’ यह सुनिश्चित करेगी कि भारत के हर नागरिक के पास 2022 तक छत हो।

कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि हम सभी प्राकृतिक आपदाओं से लड़े हैं। भारत ने इन सभी आपदाओं का मुकाबला तेजी और मजबूती से किया। हमने कोरोना वायरस से लड़ाई को जन आंदोलन बनाया और कोरोना पर भारत का रिकवरी रेट दुनिया में सबसे बेहतर है। हमने जनता को कोरोना के खिलाफ लड़ाई से जोड़ा। उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा विश्‍व शांति और समृद्ध‍ि की बात की है। चाहे भूकंप, चक्रवात, इबोला संकट या कोई अन्य प्राकृतिक या मानव निर्मित संकट हो, भारत ने तेजी और एकजुटता के साथ जवाब दिया है। कोरोना के खिलाफ हमारी संयुक्त लड़ाई में हमने 150 से अधिक देशों में चिकित्सा और अन्य सहायता उपलब्ध कराई है। 

पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने 2025 तक टीबी की पूरी तरह से खत्म करने का लक्ष्य रखा है। आयुष्मान भारत योजना से 50 करोड़ लोगों मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि विकास के रास्ते पर आगे बढ़ते हुए हम इस ग्रह के लिए अपनी जिम्मेदारियां नहीं भूल रहे हैं। पिछले कुछ सालों में हमने सालाना 38 मिलियन टन कार्बन उत्सर्जन में कमी की है। 

Leave a Reply