Home समाचार ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी हैं पीएम मोदी के कायल

ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी हैं पीएम मोदी के कायल

869
SHARE

यह तो पहले से जगजाहिर है कि दुनिया भर के नेताओं के साथ अच्छे संबंध बनाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोई सानी नहीं है। इसी वजह से टीयर-1 डिप्लोमेसी के परे जाकर दुनिया के देशों से भारत के राजनयिक संबंध मजबूत हुए हैं। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग हों या रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा हो या ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री थेरेसा मे, सभी पीएम मोदी के कायल हैं। अब मोदी के कायल होने वालों की सूची में ब्रिटेन के नव निर्वाचित प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी शामिल हो गए हैं। पीएम मोदी की इसी क्षमता की वजह से बार-बार यह सिद्ध हो चुका है कि मोदी के नेतृत्व में भारत की स्थिति एक ग्लोबल स्टेकहोल्डर के रूप में काफी मजबूत हुई है। जॉनसन के इस बयान से एक बार फिर यह बात साबित होती है। उन्होंने लिखा है कि भारत एक आर्थिक महाशक्ति है और यह सदी के मध्य तक तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए तैयार है, इसमें यूरोपियन यूनियन से कहीं अधिक आर्थिक विकास की संभावना है।

मोदी ने दुनिया में बढ़ाई देश की साख : जॉनसन  

आर्थिक वृद्धि और निरंतर प्रगति नरेंद्र मोदी की भारत को एक आर्थिक महाशक्ति बनाने की दृष्टि से जुड़ी हुई है। पीएम मोदी के प्रति अपनी इन भावनाओं को बोरिस जॉनसन ने बार-बार प्रतिध्वनित किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की डेमोग्राफिक और बौद्धिक पूजीं के बारे में दुनिया को बताने का पूरा प्रयास किया। उनकी इसी प्रयास की वजह से भारत की साख विश्व समुदाय में बढ़ी।

मोदी के लिए अपनी व्यापार नीति बदलने को आतुर जॉनसन

बोरिस जॉनसन की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बेहतर समीकरण बनाने की आतुरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने भारत के साथ व्यापारिक संबंध बनाने के लिए अपनी व्यापार नीति बदलने तक की तैयारी कर ली है। उन्होंने कहा है कि जितनी जल्दी हम यूरोपीय संघ छोड़कर अपनी व्यापार नीति वापस ले लेते हैं,उतनी ही जल्दी हम भारत के साथ नया व्यापार सौदा कर सकते हैं। यह हमारे दोनों देशों के लिए नए रोजगार,विकास और समृद्धि प्रदान करेगा। भारत के साथ इस नए और बेहतर व्यापारिक संबंध को सुरक्षित रखना मेरी पहली प्राथमिकता होगी।

बोरिस ने मोदी को बताया था पटाखा

मार्च 2019 में एक मीडिया कॉन्क्लेव में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पीएम मोदी को “पटाखा” और “राजनीतिक घटना” बताया था। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी से साल 2015 में वे तब मिले थे जब मेयर थे। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरी बार थंपिंग मेजोरिटी के साथ सत्ता में वापस आए तो जॉनसन ने भी बधाई संदेश भेजा था। अपने बधाई संदेश में उन्होंने न्यू इंडिया के लिए पीएम मोदी के दृष्टिकोण और अपने निकट संबंधों को आगे बढ़ाने में उनकी भूमिका की सराहना की थी।

जॉनसन से तीन भारतवंशियों को बनाया मंत्री

भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपने संबंध बेहतर करने के उद्देश्य से ही शायद बोरिस जॉनसन ने अपने नए मंत्रिमंडल में तीन भारतीयों को जगह दी है। उन्होंने भारतीय मूल के प्रीति पटेल को तो गृह मंत्रालय जैसा अहम मंत्रालय सौंपा है। वहीं इन्फोसिस के सह संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सुनाक को ट्रेजरी मिनिस्टर बनाया है। जबकि आलोक शर्मा को अपना विदेश मंत्री बनाया है। जिस प्रकार भारतीय मूल के लोगों को अपने मंत्रिमंडल में जगह दी गई है इससे साफ लगता है कि ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कितने प्रभावित हैं।

Leave a Reply