Home समाचार कोरोना वायरस पर फेक न्यूज से दहशत फैलाने की कोशिश, लताड़ लगने...

कोरोना वायरस पर फेक न्यूज से दहशत फैलाने की कोशिश, लताड़ लगने पर NDTV ने हटाई खबर

1992
SHARE

कोरोना वायरस संकट पर देश में 15 अप्रैल तक लॉकडाउन है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद से लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। घर से बाहर ना निकल कर लोग इस महामारी को मात देने की कोशिश में लगे हैं, लेकिन कुछ मीडिया हाउस फेक न्यूज से दहशत फैला कर कोरोना के खिलाफ अभियान को फेल करना चाहते हैं। कोरोना को लेकर न्यूज एजेंसी IANS के साथ NDTV और बिजनेस इनसाइडर ने यह दिखाने की कोशिश की कि भारत में कोरोना वायरस की भयावह स्थिति  अगस्त के मध्य तक रह सकती है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी और सेंटर फॉर डिजीज डायनेमिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी (CDDEP) की रिपोर्ट का हवाला देकर गया कि करीब 25 करोड़ लोग इस वायरस की चपेट में आकर अस्पताल पहुंच सकते हैं।

लेकिन जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने इस खबर या स्टडी से कोई लेना-देना ना होने की बात कह कर फेक न्यूज फैलाने वालों पोल खोल दी।

सोशल मीडिया पर लोगों ने एनडीटीवी को लताड़ लगानी शुरू कर दी।

पोल खुलने के बाद एनडीटीवी ने खबर डिलीट कर दी।

 

Leave a Reply