Home विपक्ष विशेष राहुल के लिए खतरा नहीं थे मनमोहन, इसलिए सोनिया ने बनाया था...

राहुल के लिए खतरा नहीं थे मनमोहन, इसलिए सोनिया ने बनाया था प्रधानमंत्री: ओबामा

552
SHARE

मनमोहन सिंह अपनी लोकप्रियता के कारण प्रधानमंत्री नहीं बने, बल्कि सोनिया गांधी ने उन्हें पीएम बनाया था। सोनिया गांधी ने मनमोहन सिंह को काफी सोच समझ कर पीएम बनाया था, क्योंकि उनका कोई राजनीतिक आधार नहीं था। और मनमोहन उनके बेटे राहुल गांधी के लिए कोई सियासी खतरा नहीं थे। ये कहना है पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का। बराक ओबामा की किताब ‘A Promised Land’ की भारत में आजकल खूब चर्चा हो रही है। पिछले हफ्ते ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ अखबार में प्रकाशित उनकी किताब की समीक्षा में राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी सामने आई थी। अब मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी के बारे में इस दावे ने उनकी किताब को एक बार फिर से चर्चा में ला दिया है।

बराक ओबामा की किताब ‘अ प्रॉमिस्ड लैंड’ ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी है। ‘अ प्रॉमिस्ड लैंड’ में ओबामा लिखते हैं, ‘कोई एक नहीं, अनेक राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है कि उन्होंने (सोनिया गांधी ने) मुख्य रूप से (मनमोहन) सिंह का चयन इसलिए किया क्योंकि बिना किसी राष्ट्रीय राजनीतिक आधार वाले बुजुर्ग सिख उनके उन 48 वर्षीय पुत्र राहुल के लिए कोई खतरा नहीं हो सकते थे जो कांग्रेस पार्टी के मुखिया बनने की तैयारी में थे।’

पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आवास पर आयोजित एक डिनर पार्टी का भी जिक्र किया जिसमें सोनिया और राहुल भी शामिल थे। ओबामा लिखते हैं कि सोनिया बोलने से ज्यादा सुनना पसंद कर रही थीं। जैसे ही पॉलिसी मैटर की तरफ बात होती तो वो बातचीत का रुख अपने बेटे राहुल की तरफ मोड़ देतीं।

बराक ओबामा का 768 पन्नों का यह संस्मरण आज, 17 नवंबर को बाजार में आने वाला है। ओबामा ने अपनी किताब में राहुल गांधी के बारे में लिखा है कि उनमें एक ऐसे नर्वस और अनगढ़ छात्र के गुण हैं जिसने अपना पूरा पाठ्यक्रम पूरा कर लिया है और वह अपने शिक्षक को प्रभावित करने की चाहत रखता है लेकिन उनमें विषय में महारत हासिल करने की योग्यता या फिर जूनून की कमी है।

Leave a Reply