Home समाचार पश्चिम बंगाल में 1352 करोड़ रुपये का कोयला घोटाला, ममता के भतीजे...

पश्चिम बंगाल में 1352 करोड़ रुपये का कोयला घोटाला, ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी को भी मिले घोटाले के पैसे

185
SHARE

पश्चिम बंगाल में चल रहे चुनाव के बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुश्किलें उस समय और बढ़ गईं, जब गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने टीएमसी सांसद और ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी पर कोयला घोटाले में पैसा मिलने का आरोप लगाया। ईडी के मुताबिक टीएमसी नेताओं के संरक्षण में हुए कोयला घोटाले से अभिषेक बनर्जी के परिवार को भी लाभ मिला।

ईडी ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के पुलिस अधिकारी और बांकुड़ा थाने के प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार मिश्रा की हिरासत बढ़ाने के लिए विशेष अदालत के समक्ष हिरासत नोट पेश किया। इसमें ईडी ने आरोप लगाया कि राज्य में सत्तारूढ़ दल के संरक्षण में अवैध कोयला खनन के मामले खूब फले-फूले हैं। एजेंसी ने माझी, विनय और विकास मिश्रा से पुलिसकर्मी को जोड़ते हुए अभिषेक बनर्जी के परिवार तक इसके तार जुड़े होने का आरोप लगाया।

ईडी के मुताबिक पूछताछ के दौरान अशोक मिश्रा ने एजेंसी को बताया कि यह लेनदेन राजनीतिक दबाव में टीएमसी के युवा नेता विनय मिश्रा के इशारे पर किया गया था। ईडी ने अपने सबमिशन में कहा कि मिश्रा ने स्वीकार किया कि उन्होंने विनय मिश्रा के कहने पर दिल्ली में लगभग 1 से 1.5 करोड़ रुपये ट्रांसफर करने की व्यवस्था की थी। राशि की व्यवस्था अनूप माझी के एकाउंटेंट नीरज सिंह के माध्यम से की गई थी। 

एजेंसी ने दावा किया कि अशोक मिश्रा ने अभिषेक बनर्जी के करीबी रिश्तेदार के लिए भारत से लंदन गैर-बैंगिंग चैनल के माध्यम से पैसे ट्रान्सफर किया था। थाईलैंड में ट्रान्सफर हुई राशि रुजिरा बनर्जी से संबंधित थी।

गौरतलब है कि पुलिस अधिकारी अशोक कुमार मिश्रा के अलावा तृणमूल कांग्रेस की युवा इकाई के नेता विनय मिश्रा के भाई विकास मिश्रा को ईडी ने एक मामले में गिरफ्तार किया। इस केस में स्थानीय कारोबारी अनूप माझी उर्फ लाला मुख्य संदिग्ध है। ईडी ने तीन अप्रैल को निरीक्षक को गिरफ्तार किया था और अदालत ने बुधवार तक उन्हें हिरासत में भेज दिया। अदालत ने ईडी को दी गई उनकी हिरासत 12 अप्रैल तक बढ़ा दी।

ईडी द्वारा जब्त नीरज सिंह के रिकॉर्ड और अन्य डिजिटल सबूतों के आधार पर दावा किया गया है कि अशोक मिश्रा को 2020 में केवल 109 दिनों में अवैध कोयला खनन के माध्मम से 168 करोड़ रुपये मिले। रिकॉर्ड्स से यह भी पता चलता है कि पिछले दो वर्षों में माझी ने अवैध कोयला खनन के माध्मम से 1352 करोड़ रुपये की रकम अर्जित की।

 

 

Leave a Reply