Home समाचार जानिए टीका नहीं लेने वाले और टीका लगवाने वालों में कितनी है...

जानिए टीका नहीं लेने वाले और टीका लगवाने वालों में कितनी है पॉजिटिविटी रेट?

903
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने टीकाकरण पर जोर दिया है। उन्होंने कोरोना और टीकाकरण की प्रगति के बारे में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश भर के डॉक्टरों के साथ बातचीत की। 19 अप्रैल, 2021 को हुई इस बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार है। इसकी पुष्टि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों से भी होती है। इसमें कहा गया है कि देश में टीका नहीं लेने वालों में पॉजिटिविटी रेट सबसे ज्यादा है, जबकि कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन लेने वालों में कम है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप देश के सभी राज्यों में है। अभी जो एक्टिव केस हैं, वो पिछले साल के एक्टिव के मुकाबले दो गुने हैं। 740 जिलों में से 146 जिलों में 15 प्रतिशत से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट हैं और यही चिंता का विषय है। इसके अलावा 274 जिलों में से 5 से 15 प्रतिशत पॉजिटिविटी रेट है, 308 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से कम है। 

पीटीआई के मुताबिक केंद्र सरकार ने कहा है कि कोवैक्सीन का दूसरा टीका लगवाने के बाद 0.04 प्रतिशत लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि कोविशील्ड की दूसरी डोज के बाद पॉजिटिव पाए गए लोगों की संख्या 0.03 प्रतिशत है।

जानकारी सामने आई है कि, कोवैक्सीन को देश में 1.1 करोड़ लोगों ने लिया है, जिसमें पहली डोज लेने के बाद 4208 और दूसरी डोज लेने के बाद 695 लोग दोबारा पॉजिटिव हुए। वहीं 11.6 करोड़ लोगों को कोविशील्ड दिया गया। जिसकी पहली डोज लेने के बाद 17145 और दूसरी डोज लेने के बाद 5014 लोग पॉजिटिव हुए।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी की बेकाबू दूसरी लहर के बीच देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार न रुकने पाए, इसके लिए मोदी सरकार ने बीते 2 दिन में 5 बड़े कदम उठाए हैं। इसमें वैक्‍सीनेशन का दायरा 18 साल से अधिक उम्र वर्ग के लोगों के बढ़ाना और वैक्‍सीन बनाने वाली देश की दो प्रमुख कंपनियों को 4500 करोड़ रुपये की सप्‍लाई क्रेडिट मंजूर करना शामिल है। प्रधानमंत्री मोदी कोविड19 महामारी पर काबू पाने और वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम को रफ्तार देने के लिए खुद विशेषज्ञों के साथ अहम बैठकें कर रहे हैं। 

Leave a Reply