Home समाचार हर दिन औसतन 84.55 लाख लोगों को लग रही है वैक्सीन, जानिए...

हर दिन औसतन 84.55 लाख लोगों को लग रही है वैक्सीन, जानिए कोरोना टीकाकरण में दुनिया के विकसित देशों से कैसे आगे निकला भारत

676
SHARE

कोरोना महामारी से निपटने में स्वास्थ्य सुविधाओं से संपन्न विकसित देश आज बेबस नजर आ रहे हैं। ऐसे संकट के समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अद्भुत नेतृत्व क्षमता का परिचय दिया है। मोदी सरकार और स्वास्थ्यकर्मियों के सजग और अथक प्रयास का नतीजा रहा कि सीमित स्वास्थ्य सुविधाओं के बावजूद कोरोना के खिलाफ जंग में भारत विकसित देशों के मुकाबले काफी आगे है। आज भारत में टीकाकऱण की तेज गति की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है। इसकी गति का अंदाज इस बात से लगा सकते हैं कि इजरायल में अब तक कुल 1.3 करोड़ वैक्सीन डोज लगी हैं। इतनी वैक्सीन डोज भारत ने एक दिन में ही 31 अगस्त, 2021 को लगायी। 16 जनवरी, 2021 को शुरू हुए कोरोना टीकाकरण अभियान के अब 230 दिन हो चुके हैं और भारत लगभग 70 करोड़ वैक्सीनेशन डोज के आंकड़े के करीब पहुंच गया है। देश ने 27 अगस्त, 2021 को पहली बार एक दिन में एक करोड़ से अधिक वैक्सीन डोज लगाने की उपलब्धि हासिल की। पूरी दुनिया में ऐसा करने वाला भारत पहला देश बना।

पिछले एक सप्ताह में हर दिन औसतन 84.55 लाख लोगों को वैक्सीन लगायी गई है। यूरोपीय संघ के 27 देशों, अमेरिका, ब्राजील, जापान, जर्मनी, ब्रिटेन, इंडोनेशिया, तुर्की, फ्रांस और पाकिस्तान में एक दिन में लग रही वैक्सीन डोज की संख्या आपस में जोड़ दें तो भी ये सभी देश संयुक्त तौर पर एक दिन में भारत के 84.55 लाख से अधिक वैक्सीन डोज से कम ही वैक्सीन लगा पा रहे हैं। आज भारत वैक्सीनेशन के मामले में इनसे बेहतर प्रदर्शन कर पा रहा है तो इससे 21वीं सदी में भारत के बढ़ते प्रभाव और आत्मविश्वास के तौर पर भी देखा जा सकता है।

वैक्सीनेशन की रफ्तार में आई तेजी

  • पीएम मोदी ने हर हाल में तेज गति से वैक्सीनेशन अभियान चलाने पर जोर दिया।
  • पदभार संभालते ही स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने अभियान में तेजी लाने के प्रयास शुरू किए।
  • स्वास्थ्य मंत्री ने अधिकारियों को 15 सितंबर तक एक दिन में एक करोड़ से अधिक वैक्सीन डोज लगाने का निर्देश दिया।
  • समय सीमा के 19 दिन पहले ही भारत ने एक दिन में एक करोड़ से अधिक वैक्सीन लगाने की उपलब्धि हासिल की।
  • स्वास्थ्य मंत्री ने वैक्सीन निर्माताओं के साथ बैठकें कर उत्पादन क्षमता बढ़ाने पर जोर दिया।
  • कंपनियों को भरोसा दिया कि उत्पादन बढ़ाने में आ रही किसी दिक्कत को दूर करने के लिए मोदी सरकार हर मदद करने को तैयार है।
  • स्वास्थ्य मंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों और स्वास्थ्य मंत्रियों से वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने की अपील की।
  • स्वास्थ्य मंत्री की पहल पर वॉट्सएप और एसएमएस के जरिए वैक्सीनेशन स्लॉट बुक कराने की व्यवस्था शुरू की गई।

Leave a Reply