Home केजरीवाल विशेष ‘सिंगापुर वेरिएंट’ वाले बयान पर हुई केजरीवाल की इंटरनेशनल बेइज्जती, ट्वीटर पर...

‘सिंगापुर वेरिएंट’ वाले बयान पर हुई केजरीवाल की इंटरनेशनल बेइज्जती, ट्वीटर पर भी लोगों ने धोया

215
SHARE

दिल्ली के विवादित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कोरोना के सिंगापुर वेरिएंट वाला बयान उल्टा पड़ गया है। एक तरफ जहां इस दुष्प्रचार और झूठ के लिए सिंगापुर सरकार ने केजरीवाल की लताड़ लगाई है, वहीं देश में केजरीवाल की जमकर बेइज्जती हुई है। आपको बता दें कि मंगलवार को अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया था, “सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद खतरनाक बताया जा रहा है, भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है। केंद्र सरकार से मेरी अपील है कि सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तत्काल प्रभाव से रद्द हों और बच्चों के लिए भी वैक्सीन के विकल्पों पर प्राथमिकता के आधार पर काम हो।”

सिंगापुर सरकार ने केजरीवाल के बयान को लेकर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है। सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से भारतीय मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए एक बयान जारी किया गया और कि इन रिपोर्टों में कोई सच्चाई नहीं है। बयान के मुताबिक, ‘कोई सिंगापुर वेरिएंट नहीं है। कोरोना का B.1.617.2 स्ट्रेन हालिया हफ्तों में कई मामलों में पाया गया है और यह भारत में ही सबसे पहले मिला था।’ भारत में सिंगापुर के दूतावास ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ट्वीट को कोट करते हुए भी यह बयान जारी किया है। आपको बता दें कि इसको लेकर सिंगापुर की सरकार ने भारतीय उच्चायुक्त को तलब भी किया था। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट करके बताया, ‘सिंगापुर वेरियंट’ वाले दिल्ली सीएम के ट्वीट पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराने के लिए सिंगापुर सरकार ने आज हमारे उच्चायुक्त को बुलाया था। उच्चायुक्त ने यह स्पष्ट किया कि दिल्ली सीएम के पास कोविड वेरियंट या सिविल एविएशन पॉलिसी पर कुछ भी बोलने का अधिकार नहीं है।’

अरविंद केजरीवाल के ट्वीट पर सिंगापुर सरकार के आपत्ति जताने के बाद विदेश मंत्री एस. जयशंकर को भी सफाई देनी पड़ी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘सिंगापुर और भारत कोविड -19 के खिलाफ लड़ाई में मजबूत भागीदार रहे हैं। एक लॉजिस्टिक्स हब और ऑक्सीजन सप्लायर्स के रूप में हम सिंगापुर की भूमिका की सराहना करते हैं।’ उन्होंने आगे कहा- ‘हालांकि, कुछ लोगों के गैर-जिम्मेदाराना बयान से लंबी चली आ रही भागीदारी को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए मैं स्पष्ट कर देता हूं कि दिल्ली के सीएम का बयान पूरे भारत का बयान नहीं है।’

आपको बता दें कि सिंगापुर से भारत की उड़ानें दिसंबर, 2020 से ही बंद हैं। इसके बावजूद केजरीवाल ने जबरदस्त कन्फ्यूजन फैलाया और भारत सरकार को बदनाम करने की कोशिश की। केजरीवाल की इस हरकत पर ट्वीटर पर लोगों ने उनकी जबरदस्त लताड़ लगाई है।

Leave a Reply