Home समाचार केजरीवाल ने गुजरात के AAP अध्यक्ष गोपाल इटालिया से मांगा इस्तीफा, ऑटो...

केजरीवाल ने गुजरात के AAP अध्यक्ष गोपाल इटालिया से मांगा इस्तीफा, ऑटो चालक के साथ उनके पूर्व नियोजित कार्यक्रम का पर्दाफाश होने से है नाराज

761
SHARE

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनता को मूर्ख बनाने के लिए ड्रामा करने से बाज नहीं आते हैं। लेकिन उनके ड्रामे की पोल भी जल्द खुल जाती है। गुजराज में भी उन्होंने ऑटो पॉलिटिक्स के जरिए लोगों को झांसा देने की कोशिश की। 12 सितंबर को जिस ऑटो ड्राइवर के घर खाना खाया था, उसी ने केजरीवाल को सार्वजनिक उपहास का पात्र बना दिया है। ऑटो ड्राइवर विक्रम ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बहुत बड़ा फैन है और ऑटो यूनियन के कहने पर केजरीवाल को अपने घर पर खाने के लिए बुलाया था। इस खुलासे के बाद केजरीवाल गुजरात प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया से काफी नाराज बताये जा रहे हैं। 

दरअसल सोशल मीडिया पर सूत्रों के हवाले से वायरल हो रहा है कि ऑटो-रिक्शा चालक के साथ केजरीवाल के पूर्व नियोजित कार्यक्रम का पर्दाफाश होने के बाद केजरीवाल AAP गुजरात अध्यक्ष गोपाल इटालिया से काफी नाराज हैं। केजरीवाल ने उनसे इस्तीफा देने को कहा है। 

जिज्ञेश नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि सुनने मे आया है कि अहमदाबाद के ऑटो रिक्शा चालक के भाजपा समर्थक होने की बात को लेकर रेवड़ीवाल नाराज हो गए और उन्होंने आप के गुजरात के दोनों प्रभारी गोपाल इटालिया और इसुदान गढवी को आप से इस्तीफा देने की बात कर दी है l

सोशल मीडिया पर ऑटो ड्राइवर का वीडियो वायरल होने से आम आदमी पार्टी के गुजरात कार्यालय में हाई वोल्टेज ड्रामा चल रहा है। बताया जा रहा है कि इसुदान गढवी और गोपाल इटालिया में भी मतभेद बढ़ते जा रहे हैं। इसुदान गढवी भी गोपाल इटालिया की योजना से काफी असहज महसूस कर रहे हैं, क्योंकि गोपाल इटालिया ने ही ऑटो ड्राइवर के यहां केजरीवाल के भोजन की पूरी स्क्रिप्ट तैयार की थी। इससे दोनों के बीच भारी खींचतान चल रही है।

गौरतलब है कि ऑटो ड्राइवर विक्रम बीजेपी का समर्थक भी है। इतना ही नहीं 29 सितंबर को वो अहमदाबाद में प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा में भाषण सुनने भी गया था। लोगों ने जब उससे दिल्ली के सीएम केजरीवाल को डिनर कराने के बारे में पूछा तो उसने साफ कहा कि अगर कोई घर आकर खाना खाने को बोलेगा, तो मना तो नहीं कर सकते। विक्रम ने साफ कहा कि वो बचपन से प्रधानमंत्री मोदी जी का प्रशंसक है। इंडिया टीवी के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि ऑटो यूनियन के कहने पर केजरीवाल को अपने घर पर खाने के लिए बुलाया था।

ऑटो ड्राइवर का यह भी कहना था कि ‘मैंने तो उन्हें आम नागरिक की तरह बुलाया था खाने पर, लेकिन मुझे नहीं पता था वो उसपे इतनी राजनीति करेंगे, खाना खाने के बाद से आप का कोई मेंबर नहीं दिखा। हम मोदी साहब के आशिक़ है और हमेशा उन्हें ही वोट जाता है।’

Leave a Reply