Home समाचार कपिल सिब्बल के बेटे ने कोर्ट में खोली महाराष्ट्र सरकार की पोल,...

कपिल सिब्बल के बेटे ने कोर्ट में खोली महाराष्ट्र सरकार की पोल, कहा-रिपब्लिक TV की TRP सबसे अधिक

639
SHARE

महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन वाली महाविकास आघाड़ी की सरकार है। इस गठबंधन ने अपने खिलाफ उठ रही आवाज को दबाने के लिए दमन का सहारा लिया है। फर्जी टीआरपी घोटाले में रिपब्लिक टीवी को फंसाने के लिए साजिशें की गईं। यहां तक कि टीआरपी से छेड़छाड़ और ज़्यादा व्यूअरशिप दिखाने के लिए गलत आंकड़े साझा करने के आरोप लगाए गए, लेकिन इन साजिशों और आरोपों की हवा वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल के बेटे अखिल सिब्बल ने कोर्ट में निकाल दी है।

बॉलीवुड के एक प्रख्यात प्रोडक्शन हाउस का पक्ष रखते हुए अखिल सिब्बल ने स्वीकार किया कि रिपब्लिक टीवी का ऑडीअन्स बेस और टीआरपी काफी ज़्यादा है। दो समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ और ‘टाइम्स नाउ’ अंग्रेज़ी समाचार समूहों की 70 प्रतिशत व्यूअरशिप का प्रतिनिधित्व करते हैं। अखिल ने कोर्ट में समाचार चैनलों को नसीहत देते हुए दलील दी की न्यूज चैनलों को खुद से संयमित रहना सीखना होगा और बॉलीवुड पर किसी भी तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी करने से बचना होगा।

बॉलीवुड की तमाम मशहूर संस्थाओं और प्रोडक्शन हाउसेस ने अक्टूबर के दौरान दिल्ली उच्च न्यायालय में रिपब्लिक टीवी, अर्णब गोस्वामी, प्रदीप भंडारी, टाइम्स नाउ, नविका कुमार और राहुल शिवशंकर के खिलाफ याचिका दायर की थी। याचिका में रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया गया था।

याचिका में समाचार चैनलोंं पर आरोप लगाया गया था कि चैनलों ने बॉलीवुड के लिए ‘गंदगी, कचरा, मैला’ जैसे अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। याचिका के अनुसार, बॉलीवुड के लिए इस प्रकार की टिप्पणी भी की गई थी- “अरब का हर इत्र बॉलीवुड के पेट में मौजूद गंदगी, कूड़े, कचरे और बदबू को हटा नहीं सकता है।”

गौरतलब है कि मुंबई पुलिस के मुखिया परमबीर सिंह ने टीआरपी घोटाला मामले में रिपब्लिक टीवी पर गंभीर आरोप लगाए थे और दावा किया था कि यह चैनल नियमों की अनदेखी करते हुए टीआरपी मीटर से छेड़छाड़ करके ज़्यादा व्यूअरशिप दिखा रहा है। इसके बाद हंसा रिसर्च ने इस बात का खुलासा किया था कि उसके कर्मचारियों को रिपब्लिक टीवी के विरुद्ध झूठे बयान नहीं देने पर प्रताड़ित किया जा रहा है।

Leave a Reply