Home समाचार भारत में होगा साढ़े 11 लाख करोड़ रुपए का मोबाइल फोन और...

भारत में होगा साढ़े 11 लाख करोड़ रुपए का मोबाइल फोन और कॉम्पोनेंट का उत्पादन,12 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

211
SHARE

कोरोना महामारी के संकट में जहां विश्व की अर्थव्यवस्था हिचकोले ले रही है, वहीं भारत विदेशी निवेशकों के लिए सबसे आकर्षक देश बनकर उभरा है। आने वाले पांच सालों में लगभग 22 कंपनियां भारत में 11.5 लाख करोड़ रुपए का मोबाइल फोन और कॉम्पोनेंट का उत्पादन करेंगी। 

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हमारी कोशिश थी कि हम विश्व में फोन बनाने वालीं महत्वपूर्ण यूनिट को भारत बुलाएं और भारत की मोबाइल कंपनियों को भी आगे बढ़ने का अवसर दें। इसलिए हम ‘प्रोडक्शन लिंक इंसेंटिव प्रोग्राम’ लेकर आए। जिसमें हम वैश्विक और भारतीय कंपनियों को 5 साल के लिए इंसेंटिव देंगे। उन्होंने कहा कि इस स्कीम में 31 जुलाई तक जो आवेदन मांगे थे उसमें 22 कंपनियों के आवेदन आए हैं। कंपनियों ने बताया है कि वो आने वाले 5 सालों में 11.5 लाख करोड़ का मोबाइल फोन और कॉम्पोनेंट का उत्पादन करेंगे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अगले 5 सालों में वो उत्पादन का 60 प्रतिशत निर्यात करेंगे, मतलब 7 लाख करोड़ के मोबाइल और कॉम्पोनेंट निर्यात करेंगे। अगले 5 साल में वो 3 लाख भारतीयों को सीधे और करीब 9 लाख भारतीयों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार देंगे। 

आपको बता दें कि इस वक्त पूरा विश्व कोरोना संकट के बुरे दौर से गुजर रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना संकट के इस दौर भी भारत वैश्विक निवेशकों के लिए सबसे पसंदीदा देश के रूप में उभरा है। अप्रैल से जुलाई महीने के दौरान वैश्विक निवेशकों ने भारत में भारी निवेश किया है। पिछले चार महीनोें में इन वैश्विक कंपनियों ने भारत में निवेश किया है।

कंपनी- गूगल

निवेश राशि- 10 मिलियन डॉलर 

कंपनी – वॉलमार्ट

निवेश राशि- 1.2 मिलियन डॉलर 

कंपनी-फॉक्सकॉन (एपल इंक सप्लायर) 

निवेश राशि- 1 बिलियन डॉलर 

कंपनी -फेसबुक

निवेश राशि- भारत के जियो रिलांयस प्लेटफॉर्म में 5.7 बिलयन डॉलर। यह फेसबुक द्वारा किसी कंपनी में सबसे बड़ा निवेश है।

कंपनी- क्वालकम वेंचर (Qualcomm Ventures)

निवेश राशि- 97 मिलियन डॉलर 

कंपनी- थॉमसन

निवेश राशि- 142.8 मिलियन डॉलर

कंपनी- We Work Global

निवेश राशि- 100 मिलियन डॉलर

कंपनी- हिटैची (Hitachi)

निवेश राशि- 15.9 मिलियन डॉलर

कंपनी- किआ मोर्टस 

निवेश राशि- 54 मिलियन डॉलर 

कंपनी- सऊदी अरब की वेल्थ फंड पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड यानी PIF 

निवेश राशि- 1.6 बिलियन डॉलर 

कंपनी- हुंडई मोबिज (Hyundai Mobis)

निवेश– हुंडई मोबिस भविष्य के वाहनों के सॉफ्टवेयर विकास को मजबूत करने के लिए भारत में अपने तकनीकी केंद्रों का विस्तार किया है। इस विस्तार के माध्यम से कंपनी का लक्ष्य भारत में अपनी R&D गतिविधियों को मजबूत करना है।

 कंपनी- SGC

निवेश– SGC गुणवत्ता पैकेजिंग में अमेजन का विश्वसनीय भागीदार है और दुनिया की अग्रणी Inspection, verification, testing और certification कंपनियों में से एक है। कंपनी ने भारत में दुनिया के अन्य हिस्सों में लैब्स के साथ भारत में अपनी पहली accreditation testing lab की शुरुआत की है।

कंपनी-Axtria

निवेश–  Sciences commercial business  के लिए क्लाउड सॉफ़्टवेयर और डेटा एनालिटिक्स में एक वैश्विक लीडर Axtria ने भारत में अपनी उपस्थिति को और बढ़ाया है और दक्षिण भारत में अपना पहला वितरण केंद्र खोला है। बड़े डेटा एनालिटिक्स और क्लाउड सॉफ्टवेयर दिग्गज कंपनी Axtria भारत में बढ़ती बाजार की मांग को पूरा करने के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा कर रहा है।

कंपनी- f5

निवेश– f5, ऐप आधारित प्लेटफ़ॉर्म का समाधान प्रदान करने वाली कंपनी है जो भारत में अपना पहला केंद्र खोली है। सिडनी, ऑस्ट्रेलिया और हांगकांग में सफलता के बाद इसने भारत में अपना पहला केंद्र खोला है।

कंपनी- Tsuzuki

निवेश– प्रमुख जापानी इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी, त्सुजुकी, हरियाणा, भारत के झज्जर में रिलायंस की मॉडल इकोनॉमिक टाउनशिप में एक नया प्लांट ओपन की है। 

कंपनी-सैमसंग 

निवेश– दक्षिण कोरियाई दिग्गज कंपनी सैमसंग ने अब भारत में अपनी 18 स्मार्टवॉच की पूरी श्रृंखला का निर्माण शुरू कर दिया है। सैमसंग पहले ही नोएडा में सबसे बड़ी स्मार्टफोन विनिर्माण कर रहा है। इसने एक नई 4 जी-सक्षम स्मार्टवॉच भी लॉन्च की है जिसे स्थानीय स्तर पर निर्मित किया जाएगा।

 

 

Leave a Reply