Home समाचार बंगाल में भाजपा सरकार बनी तो पहली ही कैबिनेट मीटिंग में किसानों...

बंगाल में भाजपा सरकार बनी तो पहली ही कैबिनेट मीटिंग में किसानों के साथ होगा न्याय : पीएम मोदी

848
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को असम माला कार्यक्रम के उद्घाटन के मौके पर असम पहुंचे। पीएम मोदी ने सोनितपुर में जनसभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने असम से देश को बदनाम करने की साजिश रचने वालों को जवाब दिया। पीएम मोदी ने कहा कि आज देश को बदनाम करने के लिए साजिश रचने वाले इस स्तर तक पहुंच गए हैं कि भारत की चाय को भी नहीं छोड़ रहे। कुछ दस्तावेज सामने आए हैं जिनसे खुलासा होता है कि विदेश में बैठी कुछ ताकतें चाय के साथ भारत की जो पहचान जुड़ी है उस पर हमला करने की फिराक में हैं। इसके बाद पीएम मोदी ने पश्चिम बंगाल के हल्दिया में एक जनसभा को संबोधित करने के साथ ही कई परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया। हल्दिया की जनसभा में उन्होंने कहा कि अगर पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सरकार बनती है, तो पहली ही कैबिनेट मीटिंग में किसानों के साथ न्याय होगा। आयुष्मान योजना, पीएम किसान जैसी योजनाओं सहित केंद्र के कई कार्यक्रम लागू किए जाएंगे। 

चाय बगान मजदूरों की मेहनत का मुकाबला नहीं कर सकते
पीएम मोदी ने कहा कि मैं असम की धरती से षड्यंत्रकारियों से कहना चाहता हूं कि ये जितने मर्जी षड्यंत्र कर लें देश इनके नापाक मंसूबों को कामयाब नहीं होने देगा। भारत की चाय पर किए जा रहे हमलों में इतनी ताकत नहीं है कि वो हमारे चाय बागान में काम करने वाले लोगों के परिश्रम का मुकाबला कर सकें।

विकास की राह पर बढ़ रहा नॉर्थ-ईस्ट
पीएम मोदी ने कहा कि हिंसा, अभाव, भेदभाव, तनाव, पक्षपात, संघर्ष इन सारी बातों को पीछे छोड़कर अब पूरा नॉर्थ ईस्ट विकास की राह पर आगे बढ़ रहा है और असम इसमें प्रमुख भूमिका निभा रहा है। पीएम ने कहा कि असम के स्वाधीनता सेनानियों ने देश की आजादी के लिए बलिदान दिया था। इन शहीदों के खून की एक-एक बूंद और साहस हमारे संकल्पों को मजबूत करता है।

विकास की सुबह का लंबा इंतजार है असम की सच्चाई
असम का यह अतीत बार-बार मेरे मन को असमिया गौरव से भर रहे हैं। पीएम ने कहा कि हम सब हमेशा से सुनते आए हैं, देखते आये हैं कि देश की पहली सुबह पूर्वोत्तर से होती है। लेकिन सच्चाई ये भी है कि पूर्वोत्तर और असम में विकास की इस सुबह को एक लंबा इंतजार करना पड़ा है।

पिछली सरकारें क्यों नहीं समझ पाईं एम्स की अहमियत
पीएम मोदी ने कहा कि गुवाहाटी में एम्स का काम तेजी से आगे बढ़ रहा है। पिछली सरकारें क्यों नहीं समझ पाईं की गुवाहाटी में एम्स होगा तो यहां के लोगों को कितना फायदा होगा। सरकार असम के विकास के लिए पूरी निष्ठा से काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि असम में आयुष्मान भारत योजना का लाभ करीब सवा करोड़ लोगों को मिल रहा है।

मातृभाषा में पढ़ाना शुरू करें मेडिकल कॉलेज
प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरा सपना है कि हर राज्य में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज मातृभाषा में पढ़ाना शुरू करें। जब असम में नई सरकार बनेगी मैं असम के लोगों की तरफ से वादा करता हूं कि असम में हम एक मेडिकल कॉलेज स्थानीय भाषा में शुरू करेंगे।

Leave a Reply