Home समाचार पीएम मोदी के कार्यकाल में ‘दोगुना’ हुआ फॉरेन रिजर्व, विदेशी मुद्रा भंडार...

पीएम मोदी के कार्यकाल में ‘दोगुना’ हुआ फॉरेन रिजर्व, विदेशी मुद्रा भंडार 600 अरब डॉलर के पार

348
SHARE

कोरोना महामारी का असर पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था पर दिखाई दे रहा है। लेकिन इस संकट काल में भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है। मोदी सरकार की नीतियों और फैसलों पर विदेशी निवेशकों का भरोसा बरकरार है। इसी का नतीजा है कि देश का विदेशी मुद्रा भंडार नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुका है। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार यानि 4 जून, 2021 को मौद्रिक नीति की घोषणा के दौरान बताया कि पिछले शुक्रवार तक देश का विदेशी मुद्रा भंडार 598.2 अरब डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई तक पहुंचा है। आरबीआई गवर्नर ने यह भी बताया कि इस हफ्ते जो संकेत मिले हैं उनके अनुसार देश का विदेशी मुद्रा भंडार 600 अरब डॉलर के आंकड़े को पार कर चुका है और इसको लेकर आधिकारिक आंकड़े अगले शुक्रवार को जारी होंगे।

 7 साल में विदेशी मुद्रा भंडार दोगुना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पिछले सात साल के कार्यकाल में देश का विदेशी मुद्रा भंडार लगभग दोगुना हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी ने मई 2014 में कार्यभार संभाला था। मई 2014 के अंत में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 312.38 अरब डॉलर था जो अब बढ़कर 600 अरब डॉलर के पार पहुंच गया है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल को 2 साल पूरे हो चुके हैं और 2 साल के दौरान देश के विदेशी मुद्रा भंडार में लगभग 179 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है। मई 2019 के अंत में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 421.86 अरब डॉलर था।

Leave a Reply