Home समाचार पूरे देश में कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन शुरू, स्वास्थ्य मंत्री ने...

पूरे देश में कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन शुरू, स्वास्थ्य मंत्री ने किया बड़ा ऐलान, देशभर में सभी के लिए फ्री होगी कोरोना वैक्सीन

1492
SHARE

कोरोना के खिलाफ लड़ाई अब अपने अंतिम चरण में पहुंच चुकी है। मोदी सरकार वैक्सीनेशन शुरू होने की तारीख के ऐलान से पहले सभी जरूरी तैयारियों को परखना चाहती है। इसलिए आज यानि 2 जनवरी से पूरे देश में वैक्सिनेशन का ड्राई शुरू किया गया। इसकी शुरुआत दिल्ली के दरियागंज से की गई। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक सभी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के कुल 116 जिलों में 259 जगहों पर वैक्सीन के लिए ड्राई रन शुरू किया गया है।

सभी लोगों को फ्री में लगाई जाएगी कोरोना वैक्सीन

इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने जीटीबी अस्पताल जाकर तैयारियों का जायजा लिया। इस खास मौके पर डॉक्टर हर्षवर्धन ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि देशभर में सभी भारतीय को कोरोना वैक्सीन फ्री में लगाई जाएगी। इसको लेकर सरकार जोर-शोर से तैयारियों में जुटी है। इसके तहत वैक्सीन को बांटने के तंत्र को मजबूत करने के साथ ही वैक्सीन के रख रखाव से लेकर इसके देने के बाद लोगों की निगरानी तक के तंत्र की जांच की जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री ने दी अफवाहों से बचने की सलाह

इस दौरान डॉ. हर्षवर्धन ने अफवाहों से बचने की सलाह दी। साथ ही कहा कि सुरक्षित और असरदार वैक्सीन हमारी प्राथमिकता है। पोलियो के वैक्सीन दिए जाने के दौरान भी विभिन्न प्रकार की अफवाहें फैलाई गईं थीं, लेकिन लोगों ने टीका लगवाया और आज भारत अब पोलियो मुक्त हो गया है।

ड्राई रन को लेकर स्वास्थ्यकर्मियों को दिया गया प्रशिक्षण

डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया कि देश में ड्राई रन को लेकर स्वास्थ्यकर्मियों को पूरा प्रशिक्षण दिया जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक विशेष टीम का भी गठन किया है, जो पूरी प्रक्रिया पर बारीकी से नजर बनाए रखेगी। अब तक पंजाब, असम, गुजरात और आंध्र प्रदेश में ऐसा ड्राई रन किया गया था। इन चारों राज्यों में ड्राई रन को लेकर अच्छे परिणाम सामने आए थे। जिसे ध्यान में रखते हुए पूरे देश में ड्राई रन शुरू किया गया है। 

ऑपरेशनल गाइडलाइन के तहत ड्राई रन की शुरुआत

सभी राज्यों में होने वाला ड्राई रन 20 दिसंबर, 2020 को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ऑपरेशनल गाइडलाइन के अनुसार होगा। ड्राई रन उसी तरह होगा, जिस तरह वैक्सीन आने पर टीकाकारण के बारे में प्लान किया गया है या जैसे वैक्सीन लगाई जाएगी। इस ड्राई रन में वैक्सीन नहीं दी जाएगी, सिर्फ लोगों का डेटा लिया जाएगा और उसे CoWin एप पर अपलोड किया जाएगा।

आइए एक नजर डालते हैं ड्राई रन के लिए किस तरह की तैयारियां की गई हैं, इसे कैसे अंजाम दिया जाएगा-

चार चरणों में पूरी होगी ड्राई रन की प्रक्रिया

1. बेनीफिशियरी (जिन लोगों को डमी वैक्सीन लगाई जानी है) की जानकारी

2. जहां वैक्सीन दी जानी है उस जगह की डिटेल

3. मौके पर डाक्यूमेंट्स का वैरिफिकेशन

4. वैक्सीनेशन की मॉक ड्रिल और रिपोर्टिंग की जानकारी अपलोड करना 

कुछ लोगों को दी जाएगी डमी वैक्सीन

ड्राई रन में पहले लिस्ट में शामिल किए कुछ लोगों को डमी वैक्सीन दी जाएगी। इस दौरान वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए जरूरी इंतजामों का रिव्यू किया जाएगा। इससे असली वैक्सिनेशन के दौरान आने वाली संभावित कमियों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

हर साइट पर ड्राई रन में 25 बेनीफिशियरी होंगे शामिल 

हर साइट पर मेडिकल ऑफिसर इनचार्ज 25 बेनीफिशियरी को चुनेगा। हर सेंटर पर तीन कमरे होंगे। पहला कमरा वेटिंग के लिए होगा। इसमें हेल्थ वर्कर की पूरी जानकारी का डेमो मिलान होगा। दूसरे कमरे में वैक्सीन दी जाएगी। तीसरे कमरे में वैक्सीन लगवाने वाले को 30 मिनट रखा जाएगा। ताकि उसे कोई परेशानी होने पर इलाज दिया जा सके।

Co-WIN एप पर अपलोड होगा डेटा

ड्राई रन में ये बेनीफिशियरी हेल्थ वर्कर्स ही रहेंगे। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा गया है कि वे बेनीफिशियरी का डेटा Co-WIN एप पर अपलोड करें। यह वैक्सीन की डिलीवरी और मॉनीटरिंग का ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है। इस प्रोसेस के बाद Co-WIN उपयोगी हो पाएगा।

104 नंबर डायल करने पर मिलेगी जानकारी

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि करीब 96 हजार वैक्सिनेटर्स को वैक्सिनेशन की ट्रेनिंग दी गई है। 2360 पार्टिसिपेंट्स को नेशनल ट्रेनिंग ऑफ ट्रेनर्स इंस्टीट्यूट में और 719 जिलों में 57 हजार से अधिक पार्टिसिपेंट्स को ट्रेनिंग दी गई है। वैक्सीन से संबंधित कोई भी जानकारी किसी भी राज्य में 104 नंबर डायल करके हासिल की जा सकेगी।

Leave a Reply