Home समाचार तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट मामले में कांग्रेस का दोगलापन आया सामने

तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट मामले में कांग्रेस का दोगलापन आया सामने

617
SHARE

तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट मामले में कांग्रेस का दोगलापन सामने आया है। तिरुवनंतपुरम हवाईअड्डे की बोली प्रक्रिया को पारदर्शी तरीके से अंजाम दिया गयाऔर केरल सरकार प्रक्रिया की अर्हता को पूरी नहीं कर पाने पर केंद्र सरकार पर आरोप लगाने लगी। एक तरफ केरल सरकार और कांग्रेस नेता जयराम रमेश सरकार पर एयरपोर्ट को बेचने का आरोप लगा रही है जबकि तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट मुद्दे पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि निष्पक्ष प्रक्रिया में हारने के बाद केरल सरकार अब सवाल खड़े कर रही है।

शशि थरूर ने साफ कहा कि केरल सरकार ने नियमों के तहत नीलामी में शामिल होने का फैसला किया था। निष्पक्ष प्रक्रिया में हारने के बाद अब वह सवाल कर रहे हैं। वास्तव में ये तिरुवनंतपुरम के यात्रियों के हित में मायने रखता है, सरकार के हित में नहीं।

जहां शशि थरूर यात्री सुविधा के नाम पर बोली प्रक्रिया का समर्थन कर रहे हैं वहीं पार्टी नेता जयराम विरोध कर रहे हैं। इसे पार्टी का दोगलापन नहीं तो और क्या कहा जाए।


तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट की बोली प्रक्रिया से पहले केंद्र और केरल सरकार के बीच यह सहमति बनी थी कि केरल की बोली और जीतने वाली बोली के 10 प्रतिशत अंतर रहने पर हवाईअड्डे का पट्टा उसे दिया जाएगा। लेकिन अडानी एंटरप्राइजेज की बोली केरल की बोली में 19 प्रतिशत से अधिक का अंतर अंतर था, इसलिए पट्टा अडानी को मिल गया। अब बोली हारने पर केरल सरकार और कांग्रेसी नेता सवाल उठा रहे हैं।

Leave a Reply