Home समाचार असम में बीजेपी की प्रचंड जीत, नगर निकाय चुनाव में 80 में...

असम में बीजेपी की प्रचंड जीत, नगर निकाय चुनाव में 80 में से 75 सीटें जीतीं, पीएम मोदी ने असम की जनता का जताया आभार

204
SHARE

पूरा देश बेसब्री से पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजों का इंतजार कर रहा है। उससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की योजनाओं और मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के करिश्मे की वजह से असम नगर निकाय चुनाव में बीजेपी ने शानदार जीत दर्ज कर सबको हैरान कर दिया है। इस चुनाव में बीजेपी ने कांग्रेस को पछाड़कर बड़ी जीत दर्ज की है। बीजेपी ने 80 में से 75 नगर पालिका बोर्डों में जीत दर्ज करते हुए शहरी निकाय चुनावों में क्लीन स्वीप किया है जबकि कांग्रेस को सिर्फ एक नगरपालिका बोर्ड से संतोष करना पड़ा है। बीजेपी की सहयोगी असम गणपरिषद ने दो नगर निगम बोर्ड बारपेटा और बोकाखाट पर कब्जा किया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने असम में 80 में से 77 नगर निकायों में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों की जीत पर राज्य की जनता के प्रति आभार जताया है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘हाल ही में संपन्न नगर निकाय चुनावों में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों को आशीर्वाद देने लिए असम की जनता का आभार। यह हमारे विकास के एजेंडे के प्रति उनके विश्वास को दर्शाता है। मैं अपने परिश्रमी कार्यकर्ताओं को उनके प्रयासों और लोगों की सेवा करने के लिए सराहना करता हूं।’


मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बीजेपी की शानदार जीत पर खुशी व्यक्त करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में राज्य की जनता का आभार जताते हुए लिखा, “नगर निकाय चुनावों में बीजेपी उम्मीदवारों और उसके सहयोगियों की प्रचंड जीत के लिए मैं असम के लोगों का आभार प्रकट करता हूं। जीत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व द्वारा निर्देशित हमारे गठबंधन पर जनता के विश्वास को दर्शाती है।”

असम में नगर पालिका के 80 बोर्डों के 920 वार्डों के लिए 6 मार्च को वोटिंग हुई थी। जबकि 57 वार्डों के उम्मीदवारों को निर्विरोध घोषित किया गया था। अधिकारियों के मुताबिक इस चुनाव में कुल 2,532 उम्मीदवार मैदान में थे। बीजेपी के 825, कांग्रेस के 706, अगप के 243 और 758 निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ कुल 2532 उम्मीदवार मैदान में थे। बीजेपी उम्मीदवारों ने 742 वार्डों में और अगप ने 65 वार्डों में जीत हासिल की। विपक्षी कांग्रेस ने 71 वार्डों में जीत दर्ज की।

राज्य के इतिहास में पहली बार असम में निकाय चुनावों के लिए बैलेट पेपर के बजाय इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल किया गया था। मतदान बंद होने के बाद, ईवीएम को सुरक्षित रूप से जिला और उप-मंडल मुख्यालयों के स्ट्रांग रूम में स्थानांतरित कर दिया गया था। ईवीएम से चुनाव होने के कारण नगर निकाय चुनावों के तेजी से नतीजे घोषित किए गए।

 

Leave a Reply