Home समाचार देश में पहली बार 13 भाषाओं में आयोजित होंगी NEET UG 2021...

देश में पहली बार 13 भाषाओं में आयोजित होंगी NEET UG 2021 परीक्षा, ऐतिहासिक पहल के तहत कुवैत में खोला गया परीक्षा केंद्र

274
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अलग तरीके से सोचते हैं और अलग तरीके से उसे साकार भी करते हैं। लीक से हटकर कार्य करने का साहस ही देश के पूर्ववर्ती प्रधानमंत्रियों से उन्हें अलग और खास बनाता है। इसकी झलक भी उनके शासन प्रणाली और सरकार के फैसलों में दिखाई देती है। मोदी सरकार ने क्रांतिकारी फैसला लेते हुए स्नातक मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाने वाली नीट (यूजी) 2021 परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को बड़ी राहत दी है। अब भारत में पहली बार नीट (यूजी) की परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की जाएंगी।

इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है, जब नीट (यूजी) परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्र मिडिल ईस्ट देश कुवैत में बनाया गया है। यह सुविधा उन भारतीय छात्रों के लिए की गई है, जो इन देशों में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। अब कोरोना महामारी के कारण छात्रों को ज्यादा यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। वहीं, इस बार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने नीट यूजी 2021 के आवेदन फॉर्म को दो चरणों में विभाजित किया है। यह सुनिश्चित करने के लिए किया गया है कि उम्मीदवार की जानकारी पोर्टल पर जल्दी से सुरक्षित जमा हो सके। 

क्षेत्रीय भाषाओं को बढ़ावा

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि छात्र हिंदी और अंग्रेजी के साथ ही अब 11 क्षेत्रीय भाषाओं- पंजाबी, असमिया, बंगाली, उड़िया, गुजराती, मराठी, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, तमिल और उर्दू में नीट (यूजी) 2021 की परीक्षा दे सकेंगे। इसमें पहली बार पंजाबी और मलयालम भाषा को जोड़ा गया है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि यह नई शिक्षा नीति 2020 के तहत क्षेत्रीय भाषाओं को बढ़ावा देने के प्रधानमंत्री मोदी के दृष्टिकोण के अनुरूप है।कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरा ख्याल

नीट (यूजी) 2021 की परीक्षा 12 सितंबर को होगी। इस दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरा ख्याल रखा जाएगा। सभी छात्रों को सेंटर पर ही फेस मास्क उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके अलावा एंट्री और एग्जिट के लिए टाइम स्लॉट तय होगा। कॉन्टेक्टलेस रजिस्ट्रेशन, सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों को पूरा करने के लिए जिन शहरों में परीक्षा होनी हैं, उनकी संख्या 155 से बढ़ाकर 198 कर दी गई है। परीक्षा केंद्र भी 2020 की तुलना में बढ़ाकर 3862 कर दिए गए हैं।

Leave a Reply