Home समाचार दिल्ली में बिहार के ‘लालू-राबड़ी युग’ की शुरुआत!

दिल्ली में बिहार के ‘लालू-राबड़ी युग’ की शुरुआत!

904
SHARE

दिल्ली विधानसभा चुनाव का परिणाम सामने आने के साथ ही यह साफ हो गया है कि दिल्ली में बिहार के ‘लालू-राबड़ी युग’ की शुरुआत हो गई है। आम आदमी पार्टी पर नेताओं की नहीं बल्कि अरविंद केजरीवाल का परिवार हावी हो चुका है।

2020 में जीत के साथ केजरीवाल का परिवार हावी 

आम आदमी पार्टी के गठन से लेकर तीन बार चुनाव में मिली सफलता की ये तस्वीरें साफ संकेत दे रही हैं कि आम आदमी पार्टी  अब अरविंद केजरीवाल के परिवार की पार्टी बन चुकी है।

 2013 में जीत के बाद पार्टी नेताओं के साथ केजरीवाल 

जब पहली बार दिल्ली में आप को सफलता मिली तब अरविंद केजरीवाल के पास उनकी पार्टी के नेता हुआ करते थे। वे कुमार विश्वास और मनीष सिसोदिया से घिरे रहते थे।

2015 में अपने नजदिकी नेताओं के साथ केजरीवाल 

दूसरी बार जब प्रचंड बहुमत मिला उस समय भी वे अपने पार्टी के नेताओं के साथ होते थे। हालांकि परिवार के प्रभाव की झलक उन्होंने 2015 की मिली जीत के बाद ही दिखा दी थी। उन्होंने उसी समय ऐलान कर दिया था कि यह जीत उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल के परिश्रम के कारण मिली है।

2020 में मिली जीत के बाद अपनी पत्नी के साथ केजरीवाल 

इस बार मिली जीत के बाद अरविंद केजरीवाल के पास केवल और केवल उनके परिवार के लोग ही दिखे। कहने का मतलब साफ है कि केजरीवाल ने अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव की पत्नी रावड़ी देवी की भूमिका में ला दिया है। उन्होंने यह भी जता दिया है कि अब उनकी पार्टी में न केवल राबड़ी बल्कि तेजस्वी यादव और मीसा भारती भी तैयार हो गए हैं।  

 

Leave a Reply