Home समाचार बिहार के मुजफ्फरपुर के एक कारिगर ने बनाई पीएम मोदी की गुल्लक...

बिहार के मुजफ्फरपुर के एक कारिगर ने बनाई पीएम मोदी की गुल्लक की अद्भुत मूर्तियां, देखकर दंग रह गए लोग

428
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हर पल देशवासियों की सेवा में लगे हुए हैं। देश और जनता के प्रति उनका समर्पण देखकर लोग उनका मुरीद हुए बिना नहीं रहते हैं। यही वजह है कि वो लोगों के दिल में बसते हैं। देश के आमलोग प्रधानमंत्री मोदी से खुद का जुड़ाव महसूस करते हैं और इसे अलग-अलग तरीके से प्रदर्शित करते हैं। बिहार के मुजफ़्फ़रपुर के रहने वाले एक कारिगर ने प्रधानमंत्री मोदी के प्रति अपने लगाव को प्रदर्शित करने के लिए उनकी गुल्लक की मूर्तियां बनाई हैं, जो अपने आप में ही अद्भुत हैं। कारिगर की शानदार कला देखकर हर कोई दंग है।

कारिगर ने बिल्कुल प्रधानमंत्री मोदी की तरह दिखने वाली गुल्लक अपने हाथों से तैयार की हैं। इतना ही नहीं इस कारिगर ने प्रधानमंत्री मोदी की तरह दिखने वाली गुल्लक बनाने में हर चीज़ पर ध्यान दिया है। गुल्लक के कपड़ों से लेकर बाल, चश्मा हर चीज़ बिल्कुल प्रधानमंत्री मोदी के लुक से मैच खाती बनाई है। समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए कारिगर ने बताया, “मैंने जनता कर्फ्यू के बाद से इन मूर्तियों को बनाने का निर्णय लिया। यह गुल्लक भी है, इसमें लोग अपने पैसे जमा कर सकते हैं। इन्हें बनाने में मुझे एक महीना लग गया।” 

ये लोगों का प्रधानमंत्री मोदी के प्रति अगाध प्रेम ही है कि किसी ने लॉकडाउन के दौरान गुल्लक की मूर्तियां बनाईं, तो किसी ने उनकी वॉल पेंटिंग बना डाली। आइए डालते हैं लोगों के इसी प्यार पर एक नजर-

लॉकडाउन में बना डाली प्रधानमंत्री मोदी की वॉल पेंटिंग

जबलपुर के सराफा में रहने वाले सोमिन जैन ने लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की वॉल पेंटिंग बना डाली। फाइन आर्ट के स्टूडेंट सोमिन ने छत पर एक दीवार में प्रधानमंत्री मोदी की यह पेंटिंग बनाई। इसे बनाने में उन्हें 15 दिन का समय लगा। सोमिन जैन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लिए कई बड़े चुनौतीपूर्ण फैसले किए हैं। प्रधानमंत्री जिस तरह से कोरोना संकट में दिन-रात काम कर रहे हैं उसकी पूरी दुनिया में तारीफ हो रही है। प्रधानमंत्री मोदी आज दुनिया के लिए एक मिसाल की तरह है इसलिए मैंने उनकी यह पेंटिंग बनाई।

लड़की ने पीठ पर बनवाया प्रधानमंत्री मोदी का टैटू

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने से खुश 21 साल की एक लड़की ने अपनी पीठ पर प्रधानमंत्री मोदी का टैटू बनवा लिया। लड़की ने कहा कि कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाना एक साहसिक फैसला है। जागरण की खबर के अनुसार रांची की लड़की रिधी शर्मा ने कहा कि मैं तो पीएम मोदी की पहले से ही फैन रही हूं। मैं अच्छे मौके का इंतजार कर रही थी। यह बहुत ही खुशी का दिन है। इसलिए मैंने यह टैटू बनवाया। मोदी जी ने महिलाओं के लिए कई अच्छे काम किए हैं। तीन तलाक से महिलाओं को आजादी दिलाई है। वे बहुत हार्ड वर्कर हैं। मुझे उन पर बहुत भरोसा है। 

किसान ने बनाया प्रधानमंत्री मोदी का मंदिर

तमिलनाडु में त्रिची के एक किसान प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान में उनका एक मंदिर बनवाया है। इराकुडी गांव के रहने वाले 50 साल के पी शंकर यह मंदिर अपनी खेत की जमीन पर खुद के पैसे से बनवाया है। मंदिर बनाने में करीब सवा लाख रुपये लगे हैं। पी शंकर रोज सुबह इस मंदिर में पूजा करते हैं और आरती करते हैं। मंदिर के अंदर सफेद शर्ट और नीले रंग की जैकेट में प्रधानमंत्री की एक मूर्ति है। मोदी जी की मूर्ति को माला और फूलों से सजाया गया है। मंदिर की दीवारों पर तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता, पूर्व सीएम पलानीसामी के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की तस्वीरों को भी सजाया गया है।

अमरेली से दिल्ली तक साइकिल यात्रा

अमरेली के भीखूभाई ने लोकसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की। भीखूभाई ने कहा था कि अगर भाजपा लोकसभा चुनाव में 300 से ज्यादा सीटें जीतती है तो वह अमरेली से दिल्ली तक साइकिल से जाएंगे। भीखूभाई से मिलने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया कि अमरेली के असाधारण भीखूभाई से मुलाकात हुई। भीखूभाई ने तय किया था कि अगर भाजपा 300 से ज्यादा सीटें जीतती है तो वह साइकिल चलाकर अमरेली से दिल्ली तक जाएंगे। उन्होंने अपनी बात रखी। मैं उनकी विनम्रता और जुनून से बहुत प्रभावित हुआ।

प्रधानमंत्री मोदी की प्रेरणा से दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ने लिखे गीत

दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर प्रधानमंत्री मोदी से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने चौकीदार पर एक सुपरहिट गाना लिख दिया। हिन्दी विभाग के प्रोफेसर निरंजन कुमार देश-दुनिया के दर्जनों यूनिवर्सिटी में पढ़ा चुके हैं। अमेरिका की कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, मिशिगन यूनिवर्सिटी और एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी में भी अध्यापन का कार्य कर चुके हैं। प्रोफेसर कुमार नियमित रूप से पत्र-पत्रिकाओं में आलेख लिखते रहे हैं और न्यूज चैनलों के डिबेट शो में हिस्सा लेते रहते हैं। प्रोफेसर कुमार का सिविल सेवा परीक्षा के लिए दो बार चयन हो चुका है, लेकिन अध्यापन से विशेष लगाव होने के कारण उन्होंने इसे ही जारी रखने का फैसला किया। देखिए प्रोफेसर निरंजन का चौकीदार पर वीडियो-

गांववालों ने लगाया ‘मैं भी चौकीदार हूं’ का बोर्ड

उत्तर प्रदेश में अमरोहा के फरीदपुर गांव के लोगों ने गांव के बाहर बीजेपी के पक्ष में बोर्ड लगाए। बोर्ड पर लिखा था कि ‘मैं भी चौकीदार हूं’। सोशल मीडिया पर यह बोर्ड काफी वायरल हुआ। इस तरह के बोर्ड इस गांव में अलग-अलग जगहों पर दिखाई पड़ रहे थे। आजतक की खबर के अनुसार गांव के किसानों ने कहा कि हमारी पिछले 30 वर्षों से एक बहुत बड़ी मांग चली आ रही थी कि किसान सम्मान निधि योजना के अंदर पैसा दिया जाए, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 6,000 रुपये देने की जो योजना बनाई, वह सराहनीय है। गांववालों ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जिस तरह से पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है उससे गांव के लोग काफी खुश हैं और इन्होंने अपने बोर्ड में लिखा कि यह गांव चौकीदारों का है। 

मोदी साड़ी और मोदी कैफे का ट्रेंड

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फिर से पीएम बनाने के लिए मोदी डिजाइन की साड़ी भी बाजार में लाई गई। प्रधानमंत्री मोदी के फोटो प्रिंट वाली साड़ी को लोगों के बीच अच्छा रिस्पॉन्स मिला। गुजरात में सूरत के एक व्यापारी ने प्रधानमंत्री मोदी के चेहरे के प्रिंट वाली इस खास साड़ी को डिजाइन किया था। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले टेक्सटाइल मार्केट में यह नया ट्रेंड किसी सरप्राइज से कम नहीं रहा। नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार लॉन्च के बाद से ही यह साड़ी लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गई।

भोपाल में चलाए गए फ्री टैटू अभियान

प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया पर ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान शुरू किया। इसके बाद से सोशल मीडिया पर अपने नाम के आगे चौकीदार लिखने का ट्रेंड चल पड़ा। इस कैंपेन के समर्थन में युवाओं ने ना सिर्फ सोशल मीडिया पर नाम के पहले चौकीदार लगा लिए बल्कि अपने हाथों पर मैं भी चौकीदार के टैटू भी बनवा लिए। 

Leave a Reply