Home समाचार नूपुर शर्मा पर ट्वीट कर फंसे अखिलेश यादव, राष्ट्रीय महिला आयोग ने...

नूपुर शर्मा पर ट्वीट कर फंसे अखिलेश यादव, राष्ट्रीय महिला आयोग ने यूपी के डीजीपी को पत्र लिखकर कहा- तुरंत की जाए कार्रवाई

278
SHARE

मुस्लिम समुदाय को खुश करने के लिए समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट कर बीजेपी की निष्कासित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ विवादित बयान दिया। लेकिन अखिलेश का बयान अब उनके लिए गले का फांस बनता जा रहा है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने ट्वीट पर संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार से अखिलेश के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है। एनसीडब्ल्यू अध्यक्ष रेखा शर्मा ने इस संबंध में प्रदेश के डीजीपी को लेटर लिखा है।

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक डी.एस. चौहान को लिखे पत्र में एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने अखिलेश के बयान को ‘‘सरासर उकसाने वाला’’ बताया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महिला आयोग ने पाया कि अखिलेश यादव का एक ट्वीट नूपुर शर्मा के खिलाफ नफरत एवं द्वेष की भावना को और दो धार्मिक समूहों के बीच सांप्रदायिक वैमनस्य को भड़काने वाला है, जो बेहद निंदनीय है। महिला आयोग ने इस मामले में निष्पक्ष और समयबद्ध जांच की मांग की है और कहा कि अखिलेश यादव के खिलाफ की गई कार्रवाई से 3 दिनों के भीतर अवगत कराया जाए। 

रेखा शर्मा ने एक ट्वीट में अखिलेश याद के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कहा, ‘ खुद को एक पार्टी का नेता कहने वाले इस आदमी को देखिए। यह लोगों को नूपुर शर्मा पर हमले के लिए उकसा रहा है। मैं यूपी पुलिस और डीजीपी को लेटर लिखकर इनके खिलाफ ऐक्शन की मांग कर रही हूं। सुप्रीम कोर्ट से अपील है कि मामले में स्वत: संज्ञान लें।’

शर्मा ने कहा, ‘‘ नूपुर शर्मा को पहले ही जान से मारने की धमकी मिल रही है और ऐसे में अखिलेश का ट्वीट आम जनता को शर्मा के खिलाफ हमले के लिए उकसाता है। समयबद्ध तरीके से मामले की जांच की जानी चाहिए।’’ गौरतलब है कि हाल ही में अखिलेश यादव ने अपने सोशल मीडिया पर एक क्लिप शेयर किया था। इसके साथ ही उन्होंने लिखा, ‘सिर्फ़ मुख को नहीं शरीर को भी माफ़ी मांगनी चाहिए और देश में अशांति और सौहार्द बिगाड़ने की सज़ा भी मिलनी चाहिए।’

Leave a Reply