Home समाचार राजस्थान के कांग्रेस शासन में युवाओं को नहीं मिल रहा रोजगार, अपराधी...

राजस्थान के कांग्रेस शासन में युवाओं को नहीं मिल रहा रोजगार, अपराधी गिरोहों की सदस्यता में तेजी से बढ़ोतरी, कानून-व्यवस्था पर उठे सवाल

343
SHARE

राजस्थान की कांग्रेस सरकार से युवा निराश हो चुके हैं। राज्य के सरकारी विभागों में हजारों पद खाली है, लेकिन गहलोत का पूरा ध्यान अपनी कुर्सी बचाने में लगा है। कांग्रेस की अंदरूनी उठापटक का खामियाजा युवाओं को भुगतना पड़ रहा है। ऐसे में बेरोजगारी से तंग आकर युवा अपराधी गिरोहों की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने राज्य की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाया है।

राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ट्वीट कर गहलोत सरकार पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “तो क्या हुआ अगर राजस्थान सरकार 2500 चिकित्सा अधिकारियों, एवं 15000 कम्प्यूटर प्रशिक्षकों की रिक्तियां नहीं भर पाई है? कानून व्यवस्था की दाद दीजिए कि “राजस्थान के नए डॉन” के प्राइवेट ग्रुप में 29,000 सदस्यों की नियुक्ति हुई है!

इस ट्वीट के मुताबिक एक अपराधी गिरोह ‘SOPU GROUP’ की सदस्य संख्या 29 हजार है। इससे पता चलता है कि राजस्थान के युवाओं में अपराधी गिरोहों का कितना क्रेज है। वहीं शिक्षित युवा रोजगार की तलाश में भटक रहे हैं। राज्यवर्धन सिंह के ट्वीट के बाद ट्विटर पर कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी और रिक्त पदों को भरने के संबंध में गहलोत सरकार की उदासीनता पर कड़ा प्रहार किया। 

कांग्रेस के आलाकमान सोनिया गांधी और उनके युवराज राहुल गांधी को राजस्थान के युवाओं की पुकार सुनाई नहीं दे रही है। उन्हें युवाओं के भविष्य की चिंता नहीं है, क्योंकि वे बीजेपी सरकारों के खिलाफ प्रोपेगैंडा करने और लोगों को गुमराह करने में व्यस्त है। गहलोत सरकार की अंदरूनी खींचतान ने युवाओं को अधर में लटका रखा है।

     

Leave a Reply