Home पोल खोल YEAR ENDER 2021 : इन बयानवीरों ने पूरा साल मोदी सरकार और...

YEAR ENDER 2021 : इन बयानवीरों ने पूरा साल मोदी सरकार और बीजेपी को घेरने की असफल कोशिशें कीं, बुरी तरह नाकाम रहे और मुंह की खानी पड़ी

1342
SHARE

साल 2021 अब व‍िदा होने की ओर बढ़ रहा है और साल 2022 के स्वागत की तैयारियां चल रही हैं। यह साल राजनीतिक तौर पर काफी सरगर्मी वाला रहा। हमेशा की तरह इस साल भी बयानवीर राजनेताओं ने अपने बयानों के ऐसे तीर चलाए, जिसको लेकर खूब हंगामा हुआ। कई कांग्रेस नेताओं ने बोलते समय न मर्यादा का ख्याल रखा और न ही सोचा कि उनके इस बयान का क्या असर होगा। कई नेताओं ने ऐसे बयान द‍िए, ज‍िनसे राजनीत‍िक गल‍ियारों में बाद में उनकी ही जगहंसाई हुई। विपक्षी नेताओं ने विवादित बयानों से मोदी सरकार और बीजेपी को घेरने की कई कोशिशें कीं, लेकिन उन्हें बार-बार मुंह की खानी पड़ी। इन बयानवीरों में कांग्रेस नेताओं की संख्या सबसे ज्यादा रही। आइए, जानते हैं साल के ऐसे ही सबसे विवादित बयानों के बारे में…

1. केजरीवाल ने सिंगापुर वैरिएंट को बताया खतरनाक
देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच बयानवीर केजरीवाल ने विवादित बयान दे दिया। दिल्ली के चीफ मिनिस्टर केजरीवाल ने कहा कि कोरोना का नया ‘Singapore strain’ आया है, जो तीसरी लहर के लिए खतरनाक है। सिंगापुर सरकार ने इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए जवाब दिया। सरकार ने कहा कि भारतीय नेता को इस तरह की गलतबयानी नहीं करनी चाहिए। साथ ही भारतीय उच्चायुक्त को तलब कर अपनी नाराजगी जताई।2. हमारी सेना हमले को तैयार, मोदी नहीं : राहुल गांधी
अपने कॉमेडीयुक्त बयानों के लिए चर्चित रहने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन के विवाद पर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए कहा कि हमारी सेना तैयार है, लेकिन प्रधानमंत्री चीन के सामने खड़े होने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारी पवित्र जमीन चीन को क्यों दे दी। चीन के सामने पीएम ने सिर झुका दिया, मत्था टेक दिया। राहुल गांधी ने एक अन्य बयान में कहा कि गंगा में बहुत लोगों ने स्नान किया, मगर ऐसा लगता है कि इतिहास में सिर्फ एक व्यक्ति ने गंगा में स्नान किया है और वो हैं नरेंद्र मोदी।

3.सड़कें तो कैटरीना कैफ के गालों जैसी बननी चाहिए : राजेंद्र सिंह गुढ़ा
राजस्थान सरकार में मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने 26 नवंबर को झुंझुनूं के पौंख गांव में सड़कों को लेकर जिक्र किया। इस पर मंत्री ने वहां मौजूद लोगों से कहा कि सड़कें कैटरीना कैफ के गाल जैसी बननी चाहिए। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान अधिकारियों से कहा कि हेमा मालिनी तो अब बूढ़ी हो गई हैं। अब तो कटरीना कैफ के गालों जैसी सड़कें बननी चाहिए। इस बयान पर सीएम ने भी गंभीर आपत्ति जताई थी।

4. बच्चे नहीं होंगे तो हम लोग कैसे राज करेंगे : गुफरान नूर
AIMIM के अलीगढ़ जिले के अध्यक्ष गुफरान नूर ने बेतुका बयान दिया। गुफरान नूर ने कहा कि बच्चे नहीं होंगे तो हम लोग कैसे राज करेंगे। कैसे ओवैसी साहब प्रधानमंत्री और शौकत साहब मुख्यमंत्री बनेंगे? दलितों, मुसलमानों को डराया जा रहा है कि बच्चे बंद करो। क्यों बंद करें बच्चे? यह शरीयत के खिलाफ है। इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने उनकी खूब खिंचाई की।

 

5. दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज : दिग्विजय सिंह
कांग्रेस नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व दिग्विजय सिंह अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में रहते हैं। उन्होंने आरएसएस की ओर से संचालित सरस्वती शिशु मंदिरों को लेकर ही विवादित बयान दे दिया। बयानवीर दिग्विजय ने कहा कि सरस्वती शिशु मंदिरों में बचपन से ही बच्चों के दिल और दिमाग में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोया जाता है। एक अन्य बयान में दिग्विजय ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो कश्मीर में धारा 370 को फिर के लागू कर देगी।

6. भारत में चार नए पाकिस्तान बन सकते हैं : शेख आलम
पश्चिम बंगाल में 25 मार्च को चुनावी प्रचार के दौरान TMC नेता शेख आलम बीरभूम जिले की नानूर विधानसभा में पहुंचे। पार्टी प्रत्याशी विधानचंद्र मांझी के लिए प्रचार करने के दौरान उन्होंने कहा, अगर भारत के 30 प्रतिशत मुसलमान एकजुट हो जाएं, तो भारत में चार नए पाकिस्तान बन सकते हैं।

7. सीएम अशोक गहलोत के सामने स्वीकारा, तबादलों में पैसे चलते हैं
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का एक वीडियो भी खूब वायरल हुआ, जिसने कांग्रेस सरकार में भ्रष्टाचार की पोल खोलकर रख दी। यह वीडियो एक समारोह का था, जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शिक्षकों को संबोधित कर रहे हैं। इसी दौरान उन्होंने शिक्षकों से पूछा कि क्या उन्हें तबादलों के बदले पैसे खिलाने यानी रिश्वत देनी पड़ती है? तो इसी दौरान शिक्षकों ने एक सूर में कहा ‘हां’। गहलोत ने दोबारा पूछा कि क्या वाकई तबादलों में पैसा चलता है, शिक्षकों ने कहा कि हां पैसे तो देने पड़ते हैं। कार्यक्रम में मौजूद शिक्षा मंत्री को मंत्रिमंडल फेरबदल में हटाना पड़ा।

 

8. ब्राह्मणों ने बुद्धि का ठेका ले रखा है क्या : शांति धारीवाल
राजस्थान सरकार में यूडीएच मिनिस्टर ने भी इस साल विवादित बयान दिया। उन्होंने कह दिया कि ब्राह्मणों ने ही बुद्धि का ठेका ले रखा है क्या ? अलवर में जैन समाज के कार्य्रकम में लोगों को संबोधित करते हुए मंत्री धारीवाल ने कोटा के कोचिंग इंस्टिट्यूट के रिजल्ट की जाति के आधार पर तुलना की। उन्होंने कहा कि कोटा के कोचिंग में मैरिट में ब्राह्मण के नहीं बनियों के लड़के आते हैं। भारी विरोध होने पर धारीवाल को माफी मांगनी पड़ी।

9. महिलाएं आपस में इतना लड़ती हैं कि दूसरों को सेरिडोन लेनी पड़ती है : शिक्षामंत्री
राजस्थान के शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने महिलाओं को लेकर अजब-गजब बयान दे दिया। महिला सशक्तिकरण के कार्यक्रम में शिक्षामंत्री का ये बयान अजीबोगरीब था, जिसपर महिलाओं ने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि महिला कर्मचारी आपस में इतना लड़ती हैं कि प्रिंसीपल और अधिकारियों को सेरिडोन लेनी पड़ती है। प्रिंसिपल और शिक्षकों को महिला कर्मचारियों की वजह से इतना सिरदर्द होता है कि सेरिडॉन की जरूरत पड़ जाती है। इसके अलावा एक अन्य बयान में भी शिक्षा मंत्री की जुबान फिसल गई। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी 2015 में दक्षिणी अफ्रीका से आए थे, उसके बाद वे राजनीति में उतरे।

10. केजरीवाल को चरणजीत चन्नी ने बताया काला अंग्रेज
पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले दिल्ली और पंजाब के मुख्यमंत्रियों के बीच जुबानी जंग भी खूब चली। केजरीवाल ने मुख्यमंत्री चन्नी को नकली आम आदमी और नकली केजरीवाल कह दिया तो चन्नी ने भी इसका जवाब दिया। उन्होंने कहा कि पंजाब में आजकर काला अंग्रेज खूब घूम रहा है, जो बाहर के आकर पंजाब में राज करना चाहता है। पंजाब के लोगों को इससे बचकर रहना चाहिए।

11. भारत महान नहीं, बदनाम देश है : कमलनाथ
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने ही देश और देशवासियों को बदनाम करने से बाज नहीं आए। कमलनाथ ने कहा कि मैं कहता हूं कि भारत महान नहीं, बदनाम हैं। ये आज सब देशों ने रोक लगाई है कि भारत के लोग नहीं आ सकते। भारत की स्थिति इतनी खराब है कि बाहर के मुल्कों में भारतीय टैक्सी ड्राइवर की टैक्सी तक में विदेशी लोग नहीं बैठते।

12. मैं तो नहीं लगवाउंगा कोरोना वैक्सीन : अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कोरोना वैक्सीन आ जाने के सवाल पर बड़े जोर-शोर से कहा था कि मैं तो नहीं लगवाउंगा कोरोना वैक्सीन। वो भी बीजेपी की वैक्सीन…उसका कोई भरोसा नहीं। हालांकि बाद में वे अपने ही बयान से मुकर गए। जब उन्होंने कोरोना वैक्सीन लगवा ली तो पत्रकारों ने याद दिलाया कि उन्होंने वैक्सीन न लगवाने का संकल्प लिया था। यादव ने कहा कि उन्होंने बीजेपी की नहीं, भारत सरकार की वैक्सीन लगवाई है।

13. बच्चे पोर्नोग्राफी देखेंगे और सेक्सुअल क्राइम बढ़ेगा : एसटी हसन
समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन ने लड़कियों को लेकर विवादित बयान दिया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि एक हमारी फिजियोलॉजिकल नीड होती है, उस नीड को अगर हम पूरा नहीं करते तो बच्चे हमारे पोर्नोग्राफी देखते हैं तो कहीं न कहीं सेक्सुअल क्राइम बढ़ता है।

14. तो लड़कियां ज्यादा आवारगी करेंगी : शफीकुर्रहमान
लड़कियों की शादी की उम्र 18 के बढ़ाकर 21 करने को समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने गलत बताया। उन्होंने कहा कि लड़कियों की शादी की उम्र 18 ही सही है। इसे बढ़ाना बिल्कुल गलत है, क्योंकि अगर ऐसा होता है तो लड़कियां ज्यादा आवारगी करेंगी।

15. संजय राउत ने कंगना रनौत को कहा हरामखोर लड़की
शिवसेना सांसद संजय राऊत ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को कहा ‘हरामखोर‘ लड़की कह डाला। राऊत ने कहा कि यह वही लड़की है, जिसने शिवाजी महाराज का अपमान किया है। इधर एक अन्य बयान में असुदुद्दीन औवेसी ने तालिबान के बहाने सरकार पर निशाना साधा कि यहां महिलाओं के कितने रेप हो रहे हैं और लोग हैं कि तालिबान की ही बातें करते हैं।

 

Leave a Reply