Home नरेंद्र मोदी विशेष सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना के लोकार्पण में बोले पीएम मोदी – जो...

सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना के लोकार्पण में बोले पीएम मोदी – जो काम 50 साल में नहीं हुआ, वो हमने पांच साल में कर दिखाया

565
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को बलरामपुर में सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज देश में आजादी के बाद पहली ऐसी सरकार है, जो छोटे किसानों की सुध ले रही है। पहली बार 2 हेक्टेयर से कम भूमि वाले छोटे किसानों को सरकारी लाभ से, सरकारी सुविधा से जोड़ा गया है। बीज से लेकर बाजार तक, खेत से लेकर खलिहान तक, उनकी हर तरह से मदद की जा रही है। इन छोटे किसानों के बैंक खातों में पीएम किसान सम्मान निधि के हज़ारों करोड़ रुपए सीधे भेजे जा रहे हैं। उनकी आय बढ़ाने के लिए उन्हें खेती से जुड़े अन्य विकल्पों की तरफ भी प्रेरित किया जा रहा है। ऐसे विकल्प जिसमें बहुत बड़ी जमीन की उतनी जरूरत नहीं पड़ती, उन्हें इसका मार्ग दिखाया जा रहा है।

सीडीएस रावत का जाना हर राष्ट्रभक्त के लिए बहुत बड़ी क्षति
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्र निर्माताओं और राष्ट्र रक्षकों की इस धरती से मैं आज देश के उन सभी वीर योद्धाओं को भी श्रद्धांजलि दे रहा हूं जिनका 8 दिसंबर को हुए हेलीकॉप्टर हादसे में निधन हो गया। भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, जनरल बिपिन रावत जी का जाना हर भारतप्रेमी के लिए, हर राष्ट्रभक्त के लिए बहुत बड़ी क्षति है। जनरल बिपिन रावत जितने जांबांज थे, देश की सेनाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जितनी मेहनत कर रहे थे, पूरा देश उसका साक्षी रहा है।

हम मिलकर भारत को और शक्तिशाली-समृद्ध बनाएंगे
उन्होंने कहा कि भारत दुख में है, लेकिन दर्द सहते हुए भी हम ना अपनी गति रोकते हैं और ना प्रगति। भारत रुकेगा नहीं, भारत थमेगा नहीं। हम भारतीय मिलकर और मेहनत करेंगे, देश के भीतर और देश के बाहर बैठी हर चुनौती का मुकाबला करेंगे, भारत को और शक्तिशाली-समृद्ध बनाएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि यूपी के सपूत, देवरिया के रहने वाले ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह जी का जीवन बचाने के लिए डॉक्टर जी-जान से लगे हुए हैं।

जो 50 साल में नहीं हुआ, वो पांच साल में कर दिखाया
प्रधानमंत्री ने कहा कि दरअसल, सरकारी पैसा है तो मुझे क्या, ये सोच देश के संतुलित और संपूर्ण विकास में सबसे बड़ी रुकावट बन गई थी। इसी सोच ने सरयू नहर परियोजना को लटकाया भी, भटकाया भी। आज से करीब-करीब 50 साल पहले इस पर काम शुरु हुआ था और अब जाकर इसका काम खत्म हुआ है। जब इस परियोजना पर काम शुरू हुआ था, तो इसकी लागत 100 करोड़ रुपए से भी कम थी। आज ये लगभग 10 हज़ार करोड़ रुपए खर्च करने के बाद पूरी हुई है। यानि पहले ही सरकारों की लापरवाही की 100 गुना ज्यादा कीमत देश को चुकानी पड़ी है। सरयू नहर परियोजना में जितना काम 5 दशक में हो पाया था, उससे ज्यादा काम हमने 5 साल से पहले करके दिखाया है। यही डबल इंजन की सरकार है। यही डबल इंजन की सरकार के काम की रफ्तार है।

तभी तो यूपी के लोग कहते हैं- फर्क साफ है
प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले जो सरकार में थे- वो माफिया को संरक्षण देते थे। आज यूपी की सरकार, माफिया की सफाई में जुटी है। तभी तो यूपी के लोग कहते हैं- फर्क साफ है। पहले जो सरकार में थे- वो बाहुबलियों को बढ़ाते थे। आज की सरकार गरीब, दलित, पिछड़े और आदिवासी, सभी को सशक्त करने में जुटी है। तभी तो यूपी के लोग कहते हैं- फर्क साफ है। पहले जो सरकार में थे, वो यहां जमीनों पर अवैध कब्जे करवाते थे। आज ऐसे माफियाओं पर जुर्माना लग रहा है, बुलडोजर चल रहा है। तभी तो यूपी के लोग कहते हैं- फर्क साफ है। पहले यूपी की बेटियां घर से निकलने से पहले 100 बार सोचने के लिए मजबूर थीं। आज अपराधी गलत काम से पहले 100 बार सोचते हैं।

Leave a Reply