Home समाचार मोदी सरकार में आईटी सेक्टर ने नई भर्तियों में पांच सालों का...

मोदी सरकार में आईटी सेक्टर ने नई भर्तियों में पांच सालों का तोड़ा रिकॉर्ड, 6 महीने में सवा लाख लोगों को दी नौकरी

443
SHARE

कोरोना काल में मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए नीतिगत बदलाव के साथ ही कई तरह के प्रोत्साहन दिए। इसका असर है कि आई सेक्टर में पिछले एक साल से खासा ग्रोथ देखने को मिला है। महामारी के बावजूद आईटी सर्विसेज की मांग में बेहद तेजी आई है। टीसीएस, इंफोसिस जैसी बड़ी आईटी कंपनियों का मुनाफा काफी अच्छा रहा और उन्होंने ज्यादा भर्तियां करने का भी ऐलान किया। इससे आईटी सेक्टर ने नई भर्तियों में पिछले पांच सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। देश की टॉप 10 आईटी कंपनियों ने जनवरी-जून 2021 के बीच छह महीने में 1.21 लाख अतिरिक्त कर्मचारियों की भर्तियां कीं। इससे पहले दूसरी सबसे अधिक भर्तियां 2019 में हुई थी, जब इन कंपनियों ने 45,649 कर्मचारियों की भर्तियां की थीं। पिछले पांच वर्षों में कुल भर्तियों में भी तेजी से वृद्धि हुई है। यह वृद्धि डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन और कंपनियों द्वारा तकनीक अपनाने में तेजी की वजह से हुई है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि इस साल आईटी सेक्टर में भर्तियां 2 लाख तक पहुंच सकती हैं। आईटी कंपनियां वित्त वर्ष 2021-22 में 1.1 लाख फ्रेशर्स को नियुक्त करेंगी।

मोदी राज में आईटी सेक्टर को बढ़ावा

  • सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में आईटी सेक्टर की हिस्सेदारी 1992-93 में 0.4 प्रतिशत से बढ़कर अब 8 प्रतिशत हो गई है।
  • आईटी सेक्टर का राजस्व 1991 में 150 मिलियन डॉलर से बढ़कर 2021 में 194 बिलियन डॉलर हो गया है।
  • टॉप 10 आईटी कंपनियों के कर्मचारियों की संख्या 40 प्रतिशत बढ़कर 14 लाख से अधिक हो गई, जो पांच साल पहले 10 लाख थी।
  • मोदी सरकार में आईटी सेक्टर में इनोवेशन, प्रतिस्पर्धा के साथ उत्कृष्ट संस्थानों के निर्माण पर जोर दिया जा रहा है।

Leave a Reply