Home समाचार ममता के नक्शेकदम पर चले हेमंत सोरेन, झारखंड में भी राम का...

ममता के नक्शेकदम पर चले हेमंत सोरेन, झारखंड में भी राम का नाम लेना हुआ अपराध

414
SHARE

झारखंड में सरकार बदलते ही हिन्दुओं के लिए मुश्किलें शुरू हो गईं। सार्वजनिक स्थानों पर भगवा झंडा लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। फल विक्रेताओं को हिन्दू फल विक्रेता लिखने पर गिरफ्तारी होने लगी। इससे भी आगे बढ़कर हेमंत सरकार ने भगवान श्री राम का नाम लेने पर ही पाबंदी लगा दी है। 5 अगस्त के दिन अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन हो रहा था। वहीं झारखंड के जमशेदपुर में एक हनुमान मंदिर में रामधुन बजाने पर पुलिस ने लाउडस्पीकर ही उतरवा लिया।

शहर के कदमा पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले शास्त्री नगर स्थित हनुमान मंदिर में एक धार्मिक आयोजन कराया गया था। मंदिर में लगे लाउडस्पीकर के ज़रिये रामधुन बजाई जा रही थी, जिसे देख कर कदमा थाने की पुलिस वहां पहुंची। इसके बाद मंदिर में लगे सारे लाउडस्पीकर उतरवा लिए गए। मंदिर समिति और भाजपा कार्यकर्ताओं ने इस घटना का विरोध किया।

पुलिस वालों ने आरोप लगाया कि रामधुन की वजह से सांप्रदायिक माहौल बिगड़ सकता है। घटना पर भाजपा नेता देवेन्द्र सिंह ने कहा इससे यह साबित होता है कि झारखंड सरकार श्रीराम विरोधी है। मंदिर के स्पीकर में कैसेट के ज़रिये रामधुन बजाई जा रही थी। जिसे कदमा पुलिस थाने के थानेदार ने उतरवा लिया।

इस मुद्दे पर थाने के दरोगा का यह भी कहना था कि सरकार की तरफ से आदेश जारी किया गया है। इसलिए रामधुन नहीं बजाई जाएगी। इससे माहौल बिगड़ने की आशंका बढ़ती है। जिस पर भाजपा नेता देवेन्द्र सिंह ने कहा “हम झारखंड सरकार के इस असंवैधानिक कार्रवाई का पुरजोर विरोध करते हैं। झारखंड सरकार की बाबरी नीति और औरंगज़ेब मानसिकता को हम किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं करेंगे।”

Leave a Reply