Home समाचार जब किसान समृद्ध होगा तभी देश समृद्ध होगा : पीएम मोदी

जब किसान समृद्ध होगा तभी देश समृद्ध होगा : पीएम मोदी

959
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर देश के किसानों को आश्वस्त किया है कि उनकी भलाई के लिए केंद्र सरकार ने कृषि सुधार से संबंधित तीन कानून बनाए हैं। उन्होंने कहा कि यह तय है कि जब किसान समृद्ध होंगे तभी देश समृद्ध होगा। ऐसे में केंद्र सरकार अपने ही किसानों का अनहित कैसे कर सकती है। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को देश के सबसे बड़े औद्योगिक और व्यावसायिक संगठन FICCI (फिक्की) के 93वें सालाना आम बैठक का वर्चुआल यानि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन किया। इसके साथ ही उन्होंने वर्चुअल माध्यम से जुड़े लोगों को संबोधित भी किया। अपने संबोधन के दौरान कोरोना माहामारी से बिगड़े हालात के सुधरने का जिक्र किया। इसके साथ ही पीएम मोदी ने देश में कृषि क्षेत्र और किसानों के हालात तथा वर्तमान में चल रहे आंदोलन की भी चर्चा की। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कृषि सुधार कानून आने के बाद से देश के किसानों के पास अपनी फसल मंडियों के साथ बाहर बेचने का भी विकल्प खुला है। इससे किसानों को लाभ ही होगा।   

अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार के समय में कृषि क्षेत्र को सशक्त करने के लिए काफी तेजी से काम हुआ है। इससे देश का कृषि क्षेत्र पहले से कहीं अधिक वाइब्रेंट हुआ है। आज जहां देश में मंडियां मॉडर्न हो रही हैं वहीं किसानों को डिजिटल प्लेटफार्म पर भी फसल क्रय-विक्रय करने का विकल्प दिया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के  इन सारे प्रयासों का एक ही लक्ष्य है कि किसानों की आय बढ़े और देश का किसान समृद्ध हो। क्योंकि जब किसान समृद्ध होगा तभी देश भी समृद्ध होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि अभी जो रिफॉर्म्स किए जा रहे हैं इससे किसानों को नए बाजार मिलेंगे, नए विकल्प मिलेंगे, टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, देश का कोल्ड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर आधुनिक होगा। इन सबसे कृषि क्षेत्र में ज्यादा निवेश होगा। इन सबका सबसे ज्यादा फायदा मेरे देश के किसान को ही होगा। उन्होंने कहा कि देश की प्रगति को गांव और छोटे शहर से समर्थन मिलने वाला है इसलिए देश के उद्यमियों को गांव और छोटे शहरों में निवेश करने के मौके को बिल्कुल नहीं गंवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीएम-वाणी योजना के तहत देशभर में सार्वजनिक वाई फाई हॉटस्पॉट का नेटवर्क तैयार किया जाएगा। इससे गांव-गांव में कनेक्टिविटी का व्यापक विस्तार होगा। मेरा आपसे आग्रह है कि रूरल और सेमी रूरल क्षेत्रों में बेहतर कनेक्टिविटी की इन प्रयासों में भागीदार बनें। पीएम मोदी ने कृषि सुधारों के संदर्भ में कहा कि आज, भारत के किसान अपनी उपज को मंडियों और साथ ही बाहर भी बेच सकते हैं। किसान अपनी उपज को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी बेच सकते हैं। किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें और अधिक समृद्ध बनाने के लिए ही ये सारी पहल की जा रही है।

देश के उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार पिछले छह सालों से देश और देशवासियों को आगे ले जाने का काम किया है। देश ने देखा है कि यह सरकार सिर्फ और सिर्फ 130 करोड़ देशवासियों के सपनों को समर्पित है। जो हर स्तर पर देशवासियों को आगे ले जाने के लिए काम कर रही है।

14 दिसंबर तक फिक्की की चलने वाली इस बैठक की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने व्यापार जगत के लोगों को संबोधित किया। अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा कि हम लोगों ने 20-20 के क्रिकेट मैच में बहुत कुछ तेजी से बदलते देखा है। लेकिन साल 2020 ने तो सभी को मात दे दी है। इस साल कई उतार-चढ़ाव आए इसलिए जब हम पीछे मुड़कर देखते हैं और महामारी के बारे में सोचते हैं, तो शायद हमें यकीन न हो। लेकिन एक शुभ संकेत यह है कि हमारे यहां रिकवरी रेट अच्छा है। उन्होंने कहा कि  वैश्विक महामारी के दौरान अधिकांश नागरिकों को बचाने वाला देश अन्य क्षेत्रों को भी संभालने में आज सक्षम है। जिस प्रकार भारत ने जान बचाने को प्राथमिकता दी आज उसका परिणाम पूरी दुनिया देख रही है। पीएम ने कहा कि जिस प्रकार बीते कुछ महीनों में नीतियां बनी हैं निर्णय लिए गए हैं और स्थितियों को संभाला गया है, उसने पूरी दुनिया को चकित कर दिया है।

Leave a Reply