Home समाचार पूर्व नेवी ऑफिसर मदन शर्मा ने कहा- आरोपियों को बचा रही है...

पूर्व नेवी ऑफिसर मदन शर्मा ने कहा- आरोपियों को बचा रही है उद्धव सरकार, राज्य में की राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

221
SHARE

मुंबई में शिवसैनिकों द्वारा नौसेना के पूर्व अधिकारी की पिटाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। मारपीट के आरोपी शिवसैनिकों की जल्द रिहाई को लेकर राज्य की उद्धव सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है। मंगलवार को मदन शर्मा महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिले और उनसे न्याय की मांग की। राज्यपाल से मिलने के बाद मदन शर्मा ने आरोपियों पर कमजोर धारा के तहत मामला दर्ज कर बचाने का आरोप लगाया और उद्धव ठाकरे को हटाकर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। बढ़ते दबाव को देखते हुए पुलिस ने आरोपियों को फिर गिरफ्तार कर लिया। 

‘आरोपियों के खिलाफ लगाई गई धाराएं कमजोर’  
नौ सेना के पूर्व अधिकारी ने कहा कि राज्यपाल से मिलकर हमने बताया कि आरोपियों के खिलाफ लगाई गई धाराएं कमजोर हैं। उन्होंने कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है। मैं मांग करता हूं कि यहां राज्य सरकार को हटाकर राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र से बात की जाएगी।

‘आज से बीजेपी और आरएसएस के साथ’
मदन शर्मा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जब मुझे पीटा गया, तो उन्होंने (शिवसेना कार्यकर्ताओं) आरोप लगाया कि ‘मैं भाजपा-आरएसएस के साथ हूं। इसलिए अब मैं घोषणा करता हूं कि मैं आज से बीजेपी-आरएसएस के साथ हूं।’

‘कानून-व्यवस्था नहीं संभल रही तो इस्तीफा दे उद्धव’
इससे पहले शनिवार को अपने घर के बाहर पत्रकारों को संबोधित करते हुए बुजुर्ग मदन शर्मा ने कहा था, ‘मैं घायल हूं और तनाव में हूं। जो हुआ, वह बेहद निराश करने वाला है। मैं उद्धव ठाकरे से साफ कहना चाहूंगा कि अगर आपसे कानून-व्यवस्था नहीं संभल रही तो इस्तीफा दे दें। लोगों को तय करने दें कि वो ये जिम्मेदारी किसे देना चाहेंगे।’

आरपियों की फिर हुई गिरफ्तारी
पिछले हफ्ते भाजपा विधायक अतुल भटखलकर द्वारा ट्विटर पर पूर्व नौसेना अधिकारी पर हमले का वीडियो पोस्ट करने के बाद आरोपी शिवसैनिकों को गिरफ्तार किया गया था। लेकिन उन पर हल्की धारा लगने के कारण उन्हें थाने से ही जमानत दे दी गई थी। बाद में महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर, भटखलकर और पीड़ित के परिजनों ने आरोपियों पर आईपीसी की धारा 326, 452 और 450 भी लगाने की मांग की थी। सीसीटी फुटेज और शिकायतकर्ता के बयान पर सामता नगर थाने ने सभी छह आरोपियों के खिलाफ मामले में धारा 452 जोड़ते हुए मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया।

विवादित कार्टून को फॉरवर्ड करने पर मारपीट
बता दें कि मुंबई के समता नगर में रहने वाले नौसेना के पूर्व अधिकारी मदन शर्मा के साथ शुक्रवार को शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मारपीट की थी। हमले में मदन शर्मा के चेहरे और आंखों में गहरी चोटें आई हैं। पूर्व नौसेना अधिकारी के साथ इतनी बुरी तरह मारपीट सिर्फ इसलिए की गई क्योंकि उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के एक कार्टून को वॉट्सऐप पर फॉरवर्ड किया था। 

 

Leave a Reply