Home समाचार किसानों को अंबानी और अडानी का डर दिखाने वालों देख लो कांग्रेसी...

किसानों को अंबानी और अडानी का डर दिखाने वालों देख लो कांग्रेसी कैसे चाट रह हैं उनके तलवे

2067
SHARE

केंद्र सरकार और किसानों के बीच कोई दौर की वार्ता के बाद भी कोई सहमति नहीं बन पाई है। किसानों ने सरकार के प्रस्ताव को भी ठुकरा दिया है। अंबानी, अडानी और कॉर्पोरेट घरानों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए किसानों ने एलान किया है कि उनकी जमाखोरी के खिलाफ लोगों को जागरूकर करेंगे और उनके तमाम प्रोडक्ट्स का बॉयकॉट करेंगे। किसान ऐसा इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें अंबानी, अडानी और कॉर्पोरेट का डर दिखाकर राजनीतिक हित साधा जा रहा है। लेकिन कुछ तस्वीरें ऐसी हैं, जो किसानों की आंखें खोलने वाली हैं। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरों के जरिए लोग सवाल पूछ रहे हैं कि ये रिश्ता क्या कहलाता है ? 

धीरूभाई अंबानी के साथ इंदिरा गांधी

ट्विटर पर एक यूजर ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के साथ धीरूभाई अंबानी के खाना खाते तस्वीर शेयर की है और लिखा कि अंबानी पहले बहुत गरीब थे। लंगर में खाना खाते थे। फिर 2014 में मोदी आया और उन्हें अरबपति बना दिया।(लंगर में खाना खाते बड़े अंबानी की एक दुर्लभ तस्वीर)

एक दूसरी तस्वीर में इंदिरा गांधी और धीरूभाई अंबानी एक साथ नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर में धीरूभाई इंदिरा गांधी को रास्ता दिखा रहे हैं। उनके बगल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आरके धवन भी है। यह तस्वीर भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।

राहुल गांधी ने नीरव मोदी के साथ की थी कॉकटेल पार्टी

पूर्व कांग्रेसी नेता शहजाद पूनावाला ने राहुल गांधी पर गंभीर आरोप लगाया था कि राहुल गांधी 2013 में भगोड़े नीरव मोदी से मिले थे। पूनावाला ने ट्वीट कर राहुल गांधी को खुली चुनौती दिया कि वह (राहुल) सितंबर 2013 की कॉकटेल पार्टी में नीरव मोदी से मिलने की बात से इनकार करें। इंपेरियल होटल में राहुल ने लंबा वक्त बिताया था। यही वह समय था जब मेहुल चोकसी और नीरव मोदी को ऋण दिया गया। एसपीजी के पास रिकॉर्ड होंगे या फिर लाई डिटेक्टेटर टेस्ट करा लीजिए। पूनावाला ने कहा कि वह कुरान की कसम तक खा सकते हैं।

गौतम अडानी के साथ सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें वायरल हो रही है, जिनमें उद्योगपति गौतम अडानी और सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा एक साथ नजर आ रहे हैं। रॉबर्ट वाड्रा और गौतम अडाणी की ये तस्वीरें 2009 की हैं। उस वक्त वाड्रा गुजरात के मूंदड़ा में अडाणी पोर्ट और अडाणी पावर प्लांट को देखने गए थे। वाड्रा और गौतम अडाणी एक साथ अडाणी ग्रुप के निजी जहाज से वहां पहुंचे थे। एक तस्वीर में दोनों बैठकर कुछ बात कर रहे हैं और दूसरी तस्वीर में वॉक करते दिख रहे हैं।

रिलायंस के साथ समझौता रद्द होने पर विलाप करते अमरिंदर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का 2016 का एक ट्वीट वायरल हो रहा है। जिसमें उन्होंने अकाली दल पर निशाना साधा था। अमरिंदर सिंह ने 27 जुलाई, 2016 को एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि हमने 3000 करोड़ रुपये के रिटेल एग्री-बिजनेस प्रोजेक्ट की शुरुआत के लिए रिलायंस ग्रुप के साथ समझौता किया था। इस समझौते से 3000 गांवों में कम से कम 1.5 लाख किसानों की आय को तीन गुना करने में मदद मिलती,लेकिन अकालियों ने इसे रद्द कर दिया।

मुकेश अंबानी के साथ कैप्टन अमरिंदर सिंह

नवंबर 2017 में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआइएल) के चेयरमैन मुकेश अंबानी के बीच मुंबई में मुलाकात हुई। इस दौरान टेलीकॉम और डाटा नेटवर्क के अलावा कृषि उत्पादकता, फूड प्रोसेसिंग उद्योग, उत्पादन सुविधाओं और परचून, खेल सहित विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग देने पर अंबानी ने सहमति जताई। इस दौरान मुख्यमंत्री अमरिंदर ने मुकेश अंबानी को पंजाब के कृषि के क्षेत्र में खेत से फैक्ट्री तक या उपभोग केंद्रों तक सप्लाई चेन स्थापित करने की अपील की। 

उद्योगपति गौतम अडानी के साथ भूपेंद्र सिंह हुड्डा

सोशल मीडिया पर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उद्योगपति गौतम अडानी की तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर में हुड्डा गौतम अडानी का हाथ थामे देखे जा सकते हैं। इस तस्वीर में दोनों के पीछे विजय माल्या भी खड़ा है। लोगों ने तंज कसा है कि हुड्डा ने देश के सबसे गरीब किसान को कौड़ियों के भाव में सरकारी जमीन दी। जिसे बाद में बेचकर वह गरीब किसान अपनी बीवी वास्ते कुटिया बनवा सका।

मुकेश अंबानी के साथ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

सोशल मीडिया पर उद्योगपति मुकेश अंबानी और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर को खुद मध्य प्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है, जिसमें लिखा गया है, ” मुख्यमंत्री माननीय कमलनाथ जी ने रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन श्री मुकेश अंबानी जी से मुलाक़ात की। मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने श्री अंबानी को मध्यप्रदेश में एग्रो एवं फ़ूड प्रोसेसिंग क्षेत्र के साथ-साथ विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं के बारे में बताया।”

उद्योगपति अनिल अंबानी के साथ कपिल सिब्बल  

सोशल मीडिया पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल और उद्योगपति अनिल अंबानी की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें दोनों एक-दूसरे के हाथ थामे खड़े हैं। लोगों ने इस तस्वीर पर टिप्पणी करते हुए लिखा है कि इससे कपिल सिब्‍बल का डबल रोल पता चलता है। पहले अनिल अंबानी का विरोध किया, फिर उनके लिए कोर्ट में पेश हुए।कांग्रेस के अनिल अंबानी समूह के साथ करीबी रिश्ते हैं। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल का कई मामलों में उद्योगपति के समूह का‘‘पक्ष लेना’’पार्टी का पर्दाफाश करता है।

यश बैंक के मालिक राणा कपूर के साथ मनमोहन सिंह 

एक ट्वीट वायरल हो रहा है, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम यश बैंक के मालिक राणा कापूर के साथ नजर आ रहे हैं। लोगों ने इस तस्वीर पर टिप्पणी करते हुए लिखा है कि दलाली कांग्रेस के खून में शामिल है।

कांग्रेस नेता अभय थिप्से ने नीरव मोदी के पक्ष में दी गवाही 

लंदन की एक अदालत में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए केस चल रहे हैं। इस सुनवाई के दौरान नीरव मोदी के बचाव में 2 लोगों ने गवाही दी – पहले थे थियेरी फ्रिच और दूसरे थे भारत के पूर्व न्यायमूर्ति और कांग्रेस नेता अभय थिप्से। इन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से नीरव मोदी के बचाव में अपनी गवाही दी। बॉम्बे हाई कोर्ट से रिटायर्ड होने के बाद अभय थिप्से वर्ष 2018 में कांग्रेस में शामिल हुए थे। 

गौतम अडानी के साथ एनसीपी प्रमुख शरद पवार

सोशल मीडिया पर गौतम अडानी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की तस्वीर वायरल हो रही है। जिसमें दोनों एक साथ जाते हुए नजार आ रहे हैं। तस्वीर 2014 की है, जब महाराष्ट्र चुनाव परिणाम आने के बाद अडानी ग्रुप के मालिक गौतम अडानी ने अपने माउंट आबू के बंगले पर शरद पवार को आमंत्रित किया था। सूत्रों की माने तो इस दौरान ज्वलंत मुद्दो पर बातचीत के अलावा दोनों के बीच सीक्रेट डील भी हुई थी। 

उद्धव सरकार और अडानी ग्रुप के बीच 5 हजार करोड़ रुपये का एग्रीमेंट

महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने अभी हाल में ही अडानी लिमिटेड के साथ 5 हजार करोड़ रुपये का एग्रीमेंट किया है। इस समझौते को लेकर सोशल मीडिया में लोगों ने तीखी प्रतक्रियाएं दी हैं। लोगों का कहना है कि सड़क पर पीएम मोदी के खिलाफ अडानी-अंबानी का नारा शरद पवार-राहुल गांधी, विपक्षी पार्टियां और तथाकथित किसान व अधूरी जानकारी वाले उनके समर्थक/पत्रकार लगा रहे हैं! कितने पाखंडी हैं ये लोग?