Home इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदी इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 21 नवम्बर

इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 21 नवम्बर

177
SHARE

21 नवम्बर 2014
झारखंड के चंदवा और डाल्टनगंज में दो विशाल रैलियों को संबोधित किया।
राष्ट्रपति ओबामा के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनने की सूचना देशवासियों को दी। 

21 नवम्बर 2015
मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर पहुंचे, जापान के प्रधानमंत्री से मुलाकात, आसियान-भारत शिखर-सम्मेलन में हिस्सा लिया।

21 नवम्बर 2016
पीएम मोदी के गुजराती काव्य संग्रह ‘आंख आ धन्य छे’ का संस्कृत अनुवाद ‘नयनम् इदम् धन्यम्’ का केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा विमोचन।

21 नवम्बर 2017
ICJ में भारत के दलवीर भंडारी की जीत पर विश्व समुदाय को धन्यवाद दिया। 

21 नवम्बर 2018

उड़ीसा के कटक बस दुर्घटना में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

21 नवम्बर 2019

दिल्ली में आयोजित महालेखाकार एवं उप महालेखाकार संगोष्ठी में हिस्सा लिया, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री  जय राम ठाकुर और केंद्रीय मंत्री प्रह्रलाद सिंह पटेल ने पीएम से मुलाकात की।

21 नवम्बर 2020

वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के माध्यम से पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह को संबोधित किया।

 

Leave a Reply