Home इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदी इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 16 अप्रैल

इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 16 अप्रैल

149
SHARE

16 अप्रैल 2015
कनाडा के वैंकूवर स्थित गुरुद्वारा खालसा दीवान और लक्ष्मी नारायण मंदिर में पूजा अर्चना, टोरंटो में व्यावसायिक समुदाय के लोगों के साथ मुलाकात, टोरंटो के रिको कोलेजियम में भारतीय समुदाय को संबोधित किया।

16 अप्रैल 2017
भुवनेश्वर में लिंगराज मंदिर में पूजा अर्चना, भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल हुए, नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथियों को सम्मानित किया, दो दिन की यात्रा पर सूरत पहुंचे और रोड शो किया।

16 अप्रैल 2018
स्वीडन और ब्रिटेन की पांच दिवसीय यात्रा पर नई दिल्ली से रवाना, स्वीडेन पहुंचने पर भारतीय समुदाय के लोगों ने स्वागत किया।  

16 अप्रैल 2019

ओडिशा के संबलपुर, छत्तीसगढ़ के कोरबा और भाटापारा की चुनावी रैलियों में उद्बोधन। 

16 अप्रैल 2020

भूटान के प्रधानमंत्री (ल्‍योनचेन) महामहिम डॉ. लोतेय त्शेरिंग के साथ टेलीफोन पर बातचीत, जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला द्वितीय के साथ टेलीफोन पर बातचीत।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

16 अप्रैल 2021

देश में पर्याप्त मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए एक व्यापक समीक्षा की।

16 अप्रैल 2022

गुजरात के मोरबी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हनुमान जी की 108 फीट ऊंची प्रतिमा का लोकार्पण।

Leave a Reply