Home समाचार वाराणसी में कल डेढ़ हजार करोड़ की 48 योजनाओं का शिलान्यास करेंगे...

वाराणसी में कल डेढ़ हजार करोड़ की 48 योजनाओं का शिलान्यास करेंगे पीएम मोदी

483
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 फरवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर जाएंगे। पीएम मोदी काशी में डेढ़ हजार करोड़ की 48 योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन करेंगे।

वाराणसी दौरे पर पीएम मोदी पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची कांस्य प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे। वाराणसी में पीएम मोदी का इस साल का यह पहला दौरा है।

430 बेड वाले अस्पताल में मिलेंगी सुपर स्पेशिलिटी सुविधाएं

वाराणसी के बीएचयू में 430 बेड वाले एक सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत केंद्रीय लोक निर्माण विभाग वाराणसी द्वारा किया गया है। पीएम मोदी ने इसका शिलान्यास 22 दिसंबर 2016 को किया गया था। अस्पताल में रेडियोलॉजी, न्यूरो विज्ञान, न्यूरो शल्य चिकित्सा, गैस्ट्रो, किडनी, मधुमेह, जलने से संबंधित इलाज, प्लास्टिक सर्जरी और हृदय रोग में सुपर स्पेशिलिटी सेवाएं आदि मौजूद रहेंगी।

अब तक इस क्षेत्र के मरीजों को बड़े शहरों में जाकर इलाज के लिए भटकना पड़ता था किन्तु अब इस अस्पताल के निर्माण से इस क्षेत्र के करोड़ों लोगों को उच्च स्तर की स्वास्थ्य सेवाएं मिल पाएंगी जोकि न्यूनतम लागत पर प्राप्त होंगी। यह सात मंजिला अस्पताल पूरी तरह वातानुकूलित है जिसका कुल क्षेत्रफल लगभग 37000 वर्गमीटर है, जिसमें 430 बेड, 13 अत्याधुनिक आपरेशन थियेटर, ओपीडी इत्यादि जैसी सुविधाएं मरीजों को मिलेंगी। अस्पताल पूर्वांचल क्षेत्र में एक मील के पत्थर के रुप में साबित होगा।

महाकाल एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी

पीएम मोदी महाकाल एक्सप्रेस को वीडियो लिंक के जरिए हरी झंडी दिखाएंगे, महाकाल एक्सप्रेस 3 तीर्थ स्थानों वाराणसी, उज्जैन और ओंकारेश्वर को जोड़ेगी। काशी महाकाल एक्सप्रेस आईआरसीटीसी की तरफ से चलाई जा रही तीसरी कॉर्पोरेट यात्री ट्रेन है, जिसमें कुल 12 डिब्बे हैं।

इसके साथ ही मोदी ‘काशी एक रूप अनेक’ कार्यक्रम का उद्घाटन भी करेंगे। पीएम मोदी अमेरिका, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया सहित विश्व के विभिन्न देशों से आए खरीदारों और दस्तकारों से भी मिलेंगे। पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल में आयोजित होने दो दिवसीय कार्यक्रम ‘काशी एक रूप अनेक’ में पूरे उत्तर प्रदेश के उत्पादों को प्रदर्शित किया जाएगा।

किसानों के लिए अलग फीडर

दीन दयाल उपाध्याय ग्रमा ज्योति योजना के तहत वाराणसी में लाइट एवं पंखे के संयोजनों को पुराने फीडर से अलग कर कृषि कार्य हेतु नये 35 फीडरों का निर्माण किया गया है। जिसके तहत किसानों के लिए 2604 अतिरिक्त ट्रांसफार्मर स्थापित किए गए हैं, जिससे लगभग 3894 किसानों को लाभ मिला है।

प्राचीन भारतीय ज्ञान को आधुनिक ज्ञान से जोड़ेगा वैदिक विज्ञान केंद्र

बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र का निर्माण किया गया है, जिसमें कुल 13 महीने का समय लगा। इस केंद्र का उद्देश्य भारतीय परम्परा का रक्षण, व्यवस्थित शिक्षण, अनुसंधान तथा प्रकाशन द्वारा संवर्धन, प्रचार एवं प्रसार करना है।

यह वैदिक विज्ञान केंद्र प्राचीन एवं आधुनिक ज्ञान-विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के अध्ययन के लिए सात विभागों द्वारा प्राचीन भारतीय ज्ञान को आधुनिक ज्ञान के साथ जोड़ेगा। इसके साथ ही आधुनिक समाज तथा ज्ञान विज्ञान के लिए मानव संसाधन को प्रस्तुत करने की दिशा में कार्य करेगा।

मानसिक रोगों के लिए साइकाइट्री हॉस्पिटल

नेशनल मेंटल हेल्थ प्रोग्राम के तहत केंद्रीय लोक निर्माण विभाग वाराणसी ने 74 बेड वाला साइकाइट्री हॉस्पिटल का निर्माण किया है। इस अस्पताल में मानसिक रोगों से सम्बन्धित सुविधाएं जैसे इलेक्ट्रो कार्डियोग्राफी, विद्युत मस्तिष्क लेखन, एमआरआई, प्ले थेरेपी, अवलोकन कक्ष, व्यावसायिक चिकित्सा, शयन प्रयोगशाला, लिथियम एवं ड्रग आकलन प्रयोगशाला, मनोवैज्ञानिक प्रयोशालाएं संगोष्ठी कक्ष, पुस्कालय आदि शामिल हैं।

इस अस्पताल को बनने में लगभग 20 महीने का समय लगा, इसका कुल क्षेत्रफल लगभग 4050 वर्गमीटर है। इस हॉस्पिटल का निर्माण स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा किया गया है।

Leave a Reply