Home समाचार प्रधानमंत्री अखिल भारतीय शिक्षा समागम और अक्षय पात्र किचेन उद्घाटन के साथ...

प्रधानमंत्री अखिल भारतीय शिक्षा समागम और अक्षय पात्र किचेन उद्घाटन के साथ वाराणसी को देंगे 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

471
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 7 जुलाई को वाराणसी में 1800 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। इन विकास परियोजनाओं से वाराणसी के बुनियादी ढांचे में सुधार होगा। प्रधानमंत्री मोदी अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और सम्मेलन केन्द्र- रुद्राक्ष में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के कार्यान्वयन पर अखिल भारतीय शिक्षा समागम का उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री वाराणसी के एलटी कॉलेज में अक्षय पात्र मिड-डे मील किचेन का भी उद्घाटन करेंगे।

फोटो- बीजेपी सोशल मीडिया

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले आठ साल में वाराणसी के बुनियादी ढांचा विकास पर विशेष ध्यान दिया है। इससे शहर का परिदृश्य बदला है और लोगों का जीवन आसान हुआ है। इस दिशा में एक और कदम के तहत सिगरा के डॉ संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री 590 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगेI इनमें वाराणसी स्मार्ट सिटी और शहरी परियोजनाओं के तहत विभिन्न पहलें शामिल हैं, जैसे- स्नान घाट के निर्माण के साथ-साथ चरण-I में नमो घाट का पुनर्विकास, 500 नावों के डीजल और पेट्रोल इंजनों का सीएनजी में बदलाव, पुरानी काशी के कामेश्वर महादेव वार्ड का पुनर्विकास और गांव हरहुआ, दासेपुर में 600 से अधिक ईडब्ल्यूएस फ्लैटों का निर्माण, लहरतारा-चौका घाट फ्लाईओवर के तहत तैयार किया गया नया वेंडिंग जोन और शहरी स्थान, दशाश्वमेध घाट पर पर्यटन सुविधा और बाजार परिसर और आईपीडीएस कार्य चरण-3 के तहत नगवा में 33/11 केवी सबस्टेशन।

प्रधानमंत्री मोदी बाबतपुर-कपसेठी-भदोही रोड पर चार-लेन वाले रोड ओवर ब्रिज के निर्माण, सेंट्रल जेल रोड पर वरुणा नदी पर पुल, पिंडरा-कथिराओं रोड के चौड़ीकरण, फूलपुर-सिंधौरा लिंक रोड के चौड़ीकरण, आठ ग्रामीण सड़कों के निर्माण, सात पीएमजीएसवाई सड़कों के निर्माण और धरसौना-सिंधौरा सड़क के चौड़ीकरण सहित विभिन्न सड़क परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे।

प्रधानमंत्री इस दौरान जिले में सीवरेज एवं जलापूर्ति की व्यवस्था को बेहतर बनाने से लिए कई परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे। इन परियोजनाओं में ट्रेंचलेस तकनीक के माध्यम से वाराणसी शहर में पुरानी ट्रंक सीवर लाइन की पुनर्स्थापना, सीवर लाइन बिछाना, वरुणा नदी के पार वाले इलाके में 25000 से अधिक सीवर हाउस कनेक्शन, शहर के सीस वरुणा इलाके में रिसाव को रोकने से संबंधित मरम्मत कार्य, तातेपुर गांव में ग्रामीण पेयजल योजना आदि शामिल है। इस मौके पर सामाजिक एवं शिक्षा क्षेत्र से संबंधित जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया जाना है उनमें महगांव में आईटीआई, बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र का चरण-II, रामनगर में गवर्नमेंट गर्ल्स होम, दुर्गाकुंड में गवर्नमेंट ओल्ड ऐज वीमेन होम में थीम पार्क शामिल हैं।

प्रधानमंत्री मोदी बड़ा लालपुर स्थित डॉ भीमराव अंबेडकर खेल परिसर में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक एवं सिंथेटिक बास्केटबॉल कोर्ट और सिंधौरा में गैर-आवासीय पुलिस थाना भवन, मिर्जामुराद, चोलापुर, जानसा व कपसेठी थाना में हॉस्टल के कमरों एवं बैरकों के निर्माण, पिंडरा में फायर एक्सटिंग्विशर सेंटर के भवन सहित पुलिस और अग्नि सुरक्षा से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे।

इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री 1200 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। इनमें लहरतारा-बीएचयू से लेकर विजया सिनेमा तक की सड़क के छह-लेन चौड़ीकरण, पांडेयपुर फ्लाईओवर से लेकर रिंग रोड तक की सड़क के चार-लेन चौड़ीकरण, कचहरी से संदाहा तक चार लेन की सड़क, वाराणसी- भदोही ग्रामीण सड़क के चौड़ीकरण, वाराणसी के ग्रामीण इलाकों में पांच नई सड़कों और चार सीसी सड़कों के निर्माण, बाबतपुर-चौबेपुर मार्ग पर बाबतपुर रेलवे स्टेशन के निकट आरओबी के निर्माण सहित सड़क से जुड़ी कई परियोजनाएं शामिल हैं। इन परियोजनाओं से शहरी और ग्रामीण इलाके की सड़कों पर यातायात के भार को कम करने में काफी मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री मोदी इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विश्व बैंक से सहायता प्राप्त उत्तर प्रदेश गरीब समर्थक पर्यटन विकास परियोजना के तहत सारनाथ बौद्ध सर्किट के विकास कार्य, अष्ट विनायक के लिए पवन पथ का निर्माण, द्वादश ज्योतिर्लिंग यात्रा, अष्ट भैरव, नव गौरी यात्रा, पंचकोसी परिक्रमा यात्रा मार्ग में पांच पड़ावों का पर्यटन विकास कार्य और पुरानी काशी में विभिन्न वार्डों में पर्यटन विकास कार्य सहित कई परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। प्रधानमंत्री सिगरा में स्पोर्ट्स स्टेडियम के पुनर्विकास कार्यों के प्रथम चरण का शिलान्यास भी करेंगे।

अखिल भारतीय शिक्षा समागम
प्रधानमंत्री मोदी अपनी वाराणसी यात्रा के दौरान अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और सम्मलेन केंद्र-रुद्राक्ष में “अखिल भारतीय शिक्षा समागम” का उद्घाटन करेंगे। शिक्षा मंत्रालय द्वारा 7 से 9 जुलाई तक शिक्षा समागम का आयोजन किया जा रहा है। यह शिक्षाविदों, नीति निर्माताओं और अकादमिक क्षेत्र की अग्रणी हस्तियों को अपने अनुभवों को साझा करने और राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 के प्रभावी कार्यान्वयन के रोडमैप पर चर्चा करने के लिए एक मंच प्रदान करेगा। पूरे देश के विश्वविद्यालयों (केंद्रीय, राज्य, डीम्ड, निजी), राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों (आईआईटी, आईआईएम, एनआईटी, आईआईएसईआर) के 300 से अधिक शैक्षणिक, प्रशासनिक और संस्थागत प्रमुखों की क्षमता निर्माण के हिस्से के रूप में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। विभिन्न हितधारक अपने-अपने संस्थानों में एनईपी के कार्यान्वयन की प्रगति का विवरण प्रस्तुत करेंगे और महत्वपूर्ण कार्यान्वयन रणनीतियों, सर्वोत्तम तौर-तरीकों और सफलता की गाथाओं को भी साझा करेंगे। तीन दिवसीय शिक्षा समागम के दौरान, एनईपी 2020 के तहत उच्च शिक्षा के लिए चिन्हित किए गए नौ विषयों पर पैनल चर्चा आयोजित की जाएगी।

Leave a Reply