Home समाचार मेरठ में नजर आई यूपी के मन की बात, पीएम मोदी ने...

मेरठ में नजर आई यूपी के मन की बात, पीएम मोदी ने कहा: पहले अपराधी ‘अवैध कब्जे’ का टूर्नामेंट खेलते थे, अब योगी सरकार उनके साथ ‘जेल-जेल’ खेल रही है’

284
SHARE

मेरठ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विरोधियों पर जम कर हमला बोला, 2017 के पहले की सरकारों के दौरान खराब कानून व्यवस्था का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ‘पहले अपराधी ‘अवैध कब्जे’ का टूर्नामेंट खेलते थे, अब योगी सरकार उनके साथ ‘जेल-जेल’ खेल रही है’2014 से पहले खेल में भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 2014 के बाद खिलाड़ियों को चार शस्त्र दिए गए- संसाधन, इंटरनेशनल ट्रेनिंग, विदेशों में पहचान और चयन में पारदर्शिता।

पीएम मोदी ने मेरठ में खिलाड़ियों से की मुलाकात

मेरठ दौरे में पीएम ने न सिर्फ मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया बल्कि खिलाड़ियों से मुलाकात भी की, इस दौरान पीएम मोदी ने स्थानीय खिलाड़ी प्रियंका गोस्वामी से किया हुआ वादा भी निभाया।

मेरठ दौरे पर पीएम मोदी सड़क के रास्ते पहुंचे।  खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने से पहले प्रधानमंत्री ने मेरठ के काली पलटन मंदिर में पूजा-अर्चना की। 

इसके बाद पीएम मोदी ने मेरठ के शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

मेरठ में नजर आई यूपी के मन की बात

पीएम मोदी के मेरठ दौरे में लोगों के मन की बात के साथ विधानसभा चुनावों को लेकर यूपी के लोगों का इरादा भी साफ नजर आया। पीएम मोदी की एक झलक पाने के लिए लोगों की भीड़ घरों की छतों और रास्तों पर जमा थी।

सड़कों से लेकर सभा स्थल कर मोदी-मोदी के नारों से गूंज रहा था। लोग पीएम मोद की एक झलक पाने के लिए व्याकुल हो रहे थे। 

मेरठ के सरधना में खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला

मेरठ के सरधना में पीएम मोदी ने खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी यूपी के युवाओं को खेलों की दुनिया में अपना भविष्य बनाने में बेहद मददगार साबित होगी। मेरठ में होने वाले कुश्ती के दंगलों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि खेलो इंडिया से सरकार खिलाड़ियों को संसाधन दे रही है और देश के कोने-कोने से टैलेंट को सामने लाया जा रहा है।

स्पोर्ट्स की दुनिया में श्रेष्ठ यूनिवर्सिटी बनेगी, मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी

पिछले 7 सालों से मोदी सरकार खेलों को आगे बढ़ाने के लिए जीतोड़ काम कर रही है। मेरठ की मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी सरकार की इसी पहल का हिस्सा है। इस स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी से न सिर्फ युवाओं को खेलकूद के क्षेत्र में मौका मिलेगा बल्कि मेरठ और उसके आसपास के इलाकों में रोजगार के साधन भी बढ़ेंगी। जान लीजिए मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की खासियत।

1 700 करोड़ की लागत से बन रही है स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी
2 हाई-टेक सुविधाओं से लैस होगी नई स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी
3 एक साथ 1080 खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दी जा सकेगी
4 25 से 30 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी
5 कुश्ती, खो-खो और कबड्डी जैसे खेलों के लिए बड़ा हॉल
6 यूनिवर्सिटी में सिंथेंटिक हॉकी मैदान, फुटबॉल मैदान
7 बास्केटबॉल, वॉलीबॉल, हैंडबॉल, लॉन टेनिस कोर्ट
8 निशानेबाजी और तीरंदाजी के लिए शूटिंग रेंज
9 सिंथेटिक रनिंग स्टेडियम, स्विमिंग पूल जैसी सुविधाएं

खेलों से जुड़े सामान की दुनिया में बड़ी मांग

मेरठ में खेलों से जुड़ी व्यापार का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि खेल से जुड़ी सर्विस और खेलों का वैश्विक बाजार लाखों करोड रुपये का है। मेरठ से ही सौ से अधिक देशों को खेल का सामान दुनिया भर में जा रहा है। मेरठ तो लोकल को ग्लोबल बना रहा है। इस मौके पर यूपी के युवओं की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यूपी में इतनी प्रतिभा है कि आसमान भी छोटा पड़़ जाए।

Leave a Reply