Home समाचार देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी- प्रधानमंत्री मोदी

देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी- प्रधानमंत्री मोदी

249
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार, 2 जून को भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की सालाना बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 5 चीजें जरूरी बताई हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत को फिर से तेज विकास के पथ पर लाने के लिए, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 आई बहुत जरूरी हैं। इरादा, समावेश, निवेश, इंफ्रास्ट्रक्चर और नवीनता (Intent, Inclusion, Investment, Infrastructure और Innovation)। हाल में जो बोल्ड फैसले लिए गए हैं, उसमें भी आपको इन सभी की झलक मिल जाएगी। इन फैसलों के साथ हमने तमाम सेक्टर्स को भविष्य के लिए तैयार किया है। इसी वजह से आज भारत एक नए विकास के पथ पर बड़ी उड़ान के लिए तैयार है।

प्रधानमंत्री मोदी ने सीआईआई को 125 साल सफलतापूर्वक पूर्ण करने के लिए बधाई देते हुए कहा कि 125 साल की यात्रा बहुत लंबी होती है। अनेक पड़ाव आए होंगे, अनेक उतार-चढ़ाव आए होंगे, लेकिन सवा सौ साल तक एक संगठन को चलाना, ये अपने-आप में बहुत बड़ी बात होती है। उसमें समयानुकूल परिवर्तन आए हैं, व्‍यवस्‍थाएं बदली हैं और पहले तो मैं इन 125 साल में सीआईआई को मजबूती देने में जिन-जिन लोगों ने योगदान दिया है, वैसे सभी पूर्व के आपके महानुभावों को भी इस समय बधाई दूंगा। जो हमारे बीच में नहीं होंगे, उनको आदरपूर्वक नमन करूंगा, और भविष्‍य में जो इसको संभालने वाले हैं उनको अनेक-अनेक शुभकामनाएं भी देता हूं।

उन्होंने कहा, ‘कोरोना के समय में, इस तरह के ऑनलाइन इवेंट ही न्यू नार्मल बनते जा रहे हैं। लेकिन ये भी इंसान की सबसे बड़ी ताकत होती है कि वो हर मुश्किल से बाहर निकलने का रास्ता बना ही लेता है। आज भी हमें जहां एक तरफ इस वायरस से लड़ने के लिए सख्त कदम उठाने हैं वहीं दूसरी तरफ इकोनमी का भी ध्यान रखना है। हमें एक तरफ देशवासियों का जीवन भी बचाना है तो दूसरी तरफ देश की अर्थव्यवस्था को भी स्थिर करना है, तेज करना है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मेरे इस विश्वास के कई कारण है। मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा है। मुझे भारत के टेलेंट और टेक्नॉलोजी पर भरोसा है। मुझे भारत के इनोवेशन और इंटेलेक्ट पर भरोसा है। मुझे भारत के किसानों और उद्यमियों पर भरोसा है। और, मुझे भरोसा है इंडस्ट्री के लीडर्स पर, आप सभी पर। इसलिए मैं कह रहा हूं- हां! हम विकास के पथ पर वापस लौट आएंगे।’

उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ इकोनमी को फिर से मजबूत करना, हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। इसके लिए सरकार जो फैसले अभी तुरंत लिए जाने जरूरी हैं, वो ले रही है। और साथ में ऐसे भी फैसले लिए गए हैं जो दीर्घकाल में देश की मदद करेंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत से दुनिया की अपेक्षा और बढ़ीं हैं। आज दुनिया का भारत पर विश्वास भी बढ़ा है और नई आशा का संचार भी हुआ है। अभी आपने भी देखा है कि कोरोना के इस संकट में जब किसी देश के लिए दूसरे की मदद करना मुश्किल हो रहा था, तब भारत ने 150 से ज्यादा देशों को चिकित्सा आपूर्ति भेजकर उनकी मदद की है। दुनिया एक भरोसेमंद साथी की ओर देख रहा है और भारत में वो क्षमता है। आज पूरे विश्व में भारत के प्रति जो विश्वास बना है, उसका आप सभी को, भारत की इंडस्ट्री को पूरा फायदा उठाना चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘कितने ही सेक्टर्स हैं, जिसमें हम बहुत अच्छा कर सकते हैं। बीते सालों में आप सभी साथियों के सहयोग से ही देश में वंदेभारत जैसी आधुनिक ट्रेनें बनीं हैं। देश आज मेट्रो के कोच निर्यात कर रहा है। इसी तरह मोबाइल फोन मैन्युफेक्चरिंग हो, डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग हो, अनेक क्षेत्रों में इंपोर्ट पर हमारी डिपेंडेंस को कम करने का प्रयास किया जा रहा है। और मैं बहुत गर्व से कहूंगा कि सिर्फ 3 महीने के भीतर ही PPE की सैकड़ों करोड़ की इंडस्ट्री आपने ही खड़ी की है। तीन महीने पहले तक भारत में एक भी PPE नहीं बनती थी। आज भारत एक दिन में 3 लाख PPE किट बना रहा है, तो ये हमारे उद्योग जगत का ही सामर्थ्य है। आपको इसी सामर्थ्य का इस्तेमाल हर सेक्टर में बढ़ाना है। मेरा तो CII के तमाम साथियों से ये भी आग्रह है, कि रुरल इकोनमी में निवेश और किसानों के साथ भागीदारी का रास्ता खुलने का भी पूरा लाभ उठाएं। अब तो गांव के पास ही लोकल एग्रो प्रोडक्ट्स के क्लस्टर्स के लिए ज़रूरी इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इसमें CII के तमाम मेंबर्स के लिए बहुत अवसर हैं।’

Leave a Reply