Home समाचार स्वास्थ्य देखभाल को लेकर उठाए कई ऐतिहासिक कदम- यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज पर...

स्वास्थ्य देखभाल को लेकर उठाए कई ऐतिहासिक कदम- यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज पर प्रधानमंत्री मोदी

1111
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने न्यूयॉर्क में यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज पर आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में योग और आयुर्वेद सहित स्वास्थ्य सेवाओं पर भारत के प्रयासों का उल्लेख किया। प्रधानमंत्री मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के बारे में बात की और कहा कि इसका 45 लाख से अधिक लोगों को लाभ मिला है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘विश्व कल्याण की शुरुआत जन कल्याण से होती है और स्वास्थ्य उसकी महत्वपूर्ण इकाई है। और इसलिए ये विषय भारत के लिए बहुत बड़ी प्राथमिकता है। हमें इस विषय होलिस्टिक अप्रोच के साथ चार pillars पर काम कर रहे हैं। पहला pillar है Preventive Health का। हमने योग, आयुर्वेद और फिटनेस पर विशेष बल दिया है। हम सवा लाख से अधिक वेलनेस सेंटर बना रहे हैं। इससे lifestyle disease जैसे डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, डिप्रेशन आदि को नियंत्रण में मदद मिल रही है। e-cigarette का बढ़ता हुआ क्रेज बहुत ही चिंता का विषय है। भारत ने युवा पीढ़ी को इस गंभीर संकट से बचाने के लिए e-cigarette को ban कर दिया है। हमारे क्लीन इंडियन मिशन ने लाखों जिंदगियाँ बचाने में योगदान दिया है। इम्यूनाइजेशन पर भी हमारा विशेष जोर है। नई वैक्सीनों को जोड़ने के साथ हमने दूर दराज़ के इलाकों में access को भी सुधारा है।’

उन्होंने कहा, ‘दूसरा pillar है Affordable Healthcare. हमने विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत को लागू किया है। इसके तहत 50 करोड़ गरीबों को प्रतिवर्ष 5 लाख रूपए तक मुफ्त इलाज़ की सुविधा दी जा रही है। और पिछले सिर्फ़ एक वर्ष में 45 लाख लोगों ने इसका लाभ उठाया है। हमने पांच हज़ार से अधिक स्पेशल फार्मेसी शुरू की हैं जहां 800 से अथिक अहम् दवाईयां उचित कीमत पर उपलब्ध कराई जा रही हैं। हर्ट के स्टेंट की कीमत 80 प्रतिशत तक और knee-implant की कीमत 50 से 70 परसेंट तक कम की गई है। किडनी की समस्या से पीड़ित लाखों लोग भारत में निशुल्क डायलिसिस सुविधा का लाभ उठा रहे हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘तीसरा pillar है Supply Side में सुधार का और इसके लिए हमने भारत में क्वालिटी मेडिकल एजुकेशन के लिए, मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए कई ऐतिहासिक कदम उठाए हैं। दूसरे सेक्टर के लिए हमने आमूलचूल सुधार किये हैं।

उन्होंने कहा, ‘चौथा pillar है Mission Mode Intervention का। यदि माएं और बच्चे स्वस्थ हों तो पूरे समाज को स्वस्थ करने की नींव बन सकती है और इसलिए हमने मिशन mode पर राष्ट्रीय पोषण अभियान जैसी पहल की हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा,’Sustainable Development Goals में TB को 2030 तक समाप्त करने का लक्ष्य है। भारत में हमने इसे mission mode में लक्ष्य में 2025 तक इसको पाने का इरादा रखा है और मुझे पूरा विश्वास है कि हम ये लक्ष्य भी प्राप्त करेंगें। वायु प्रदुषण, जानवरों में होने वाली और फिर उनसे मनुष्यों में फ़ैलने वाली बीमारियों के खिलाफ भी हमने अभियान शुरू किया है।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘स्वास्थ्य का तात्पर्य मात्र रोग मुक्ति से नहीं है, स्वस्थ जीवन भी हर किसी का अधिकार है। इसके लिए हर संभव प्रयास करना हमारी सरकार का दायित्व है। और भारत के प्रयास भारत की सीमाओं के अन्दर तक ही सिमटे नहीं हैं। हमने कई देशों, विशेष रूप से अफ्रीका के देशों में tele-medicine के द्वारा affordable healthcare की access बढ़ाने में सहयोग किया है और आगे भी करते रहेंगें। हमारा अनुभव और हमारी क्षमताएँ सभी विकासशील देशों के लिए उपलब्ध हैं। सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः की भावना के साथ मैं अपनी बात समाप्त करता हूँ, यानी सभी सुखी हों, सभी रोगमुक्त हों।’

देखिए वीडियो-

Leave a Reply