Home समाचार अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस: बाघों के लिए भारत सुरक्षित जगह- प्रधानमंत्री मोदी

अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस: बाघों के लिए भारत सुरक्षित जगह- प्रधानमंत्री मोदी

1128
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि बाघों के लिए भारत एक सुरक्षित जगह है। अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस के मौके पर सोमवार को ऑल इंडिया टाइगर एस्टिीमेशन 2018 जारी करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बाघों की सुरक्षा के संबंध में हम अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं।

उन्होंने कहा कि 9 साल पहले सेंट पीटर्सबर्ग में यह निर्णय लिया गया था कि बाघों की आबादी को दोगुना करने का लक्ष्य होगा और यह 2022 तक होगा। हमने इस लक्ष्य को 4 साल पहले पूरा कर लिया है।

बाघों की गणना के संबंध में आंकड़े जारी करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 में बाघों की संख्‍या 2,226 थी जो 2018 में बढ़कर 2,967 हो गई।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं इस क्षेत्र से जुड़े लोगों से यही कहूंगा कि जो कहानी ‘एक था टाइगर’ के साथ शुरू होकर ‘टाइगर जिंदा है’ तक पहुंची है, वो वहीं न रुके। केवल टाइगर जिंदा है, से काम नहीं चलेगा। बाघ संरक्षण से जुड़े जो प्रयास हैं उनका और विस्तार होना चाहिए, उनकी गति और तेज की जानी चाहिए।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘2014 में भारत में संरक्षित क्षेत्र की संख्या 692 थी जो 2019 में बढ़कर अब 860 से ज्यादा हो गई है। साथ ही कम्युनिटी रिजर्व की संख्या भी साल 2014 के 43 से बढ़कर अब सौ से ज्यादा हो गई है। बीते पांच वर्षों में जहां देश में नेक्स्ट जेनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए तेजी से कार्य हुआ है, वहीं भारत में फारेस्ट कवर भी बढ़ रहा है।’

दुनियाभर में बाघों की तेजी से घटती संख्या के प्रति संरक्षण के लिए जागरूकता फैलाने को लेकर हर साल 29 जुलाई को ‘वर्ल्ड टाइगर डे’ मनाया जाता है। 

भारत प्रत्‍येक चार वर्ष में अखिल भारतीय बाघ आकलन करता है। आकलन के चार चक्र 2006, 2010, 2014 और 2018 में पूरे हो चुके हैं।

देखिए वीडियो-

Leave a Reply