Home समाचार PM मोदी ने किया 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज का...

PM मोदी ने किया 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज का ऐलान, कहा- लोकल के लिए बनें ‘वोकल’

629
SHARE

कोरोना महामारी के संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज चौथी बार राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 18 मई से देश में लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू होगा, लेकिन यह अब तक के लॉकडाउन से काफी अलग होगा। उन्होंने इशारा किया कि अगले लॉकडाउन में पहले की तरह प्रतिबंध नहीं होंगे और सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करते हुए कामकाज आगे बढ़ेगा। 

पीएम मोदी ने कहा,”लॉकडाउन का चौथा चरण पूरी तरह नए रंग रूप और नए नियमों वाला होगा। राज्यों से मिल रहे सुझावों के आधार पर लॉकडाउन 4 के लिए गाइडलाइंस तैयार किए गए हैं। इसकी जानकारी 18 मई से पहले दी जाएगी।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सभी एक्सपर्ट और साइंटिस्ट बताते हैं कि कोरोना लंबे समय तक हमारे जीवन का हिस्सा बना रहेगा। लेकिन हम ऐसा भी नहीं होने दे सकते कि हमारी जिंदगी कोरोना के आसपास ही रह जाए। हम मास्क पहनेंगे, दो गज की दूरी रखेंगे, लेकिन अपने लक्ष्यों को दूर नहीं होने देंगे। 

इस मौके पर ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ का ऐलान करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सरकार इसके लिए 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज लेकर आ रही है। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बुधवार से अगले कुछ दिनों तक चरण-दर-चरण तरीके से पैकेज का विस्तृत ब्यौरा देश के सामने रखेंगी। उन्होंने कहा कि 20 लाख करोड़ का यह आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज देश की कुल जीडीपी का करीब-करीब 10% है।

पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज के जरिए देश के विभिन्न वर्गों को, आर्थिक व्यवस्था की कड़ियों को, 20 लाख करोड़ रुपए का संबल मिलेगा, सपोर्ट मिलेगा। 20 लाख करोड़ रुपए का ये पैकेज, 2020 में देश की विकास यात्रा को, आत्मनिर्भर भारत अभियान को एक नई गति देगा। आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए, इस पैकेज में Land, Labour, Liquidity और Laws सभी पर बल दिया गया है। उन्होंने कहा कि ये आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग, हमारे MSME के लिए है, जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन है,जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है ‘आत्मनिर्भर भारत’। उन्होंने कहा कि एक राष्ट्र के रूप में आज हम एक बहुत ही अहम मोड़ पर खड़े हैं। इतनी बड़ी आपदा भारत के लिए एक संकेत लेकर आई है, एक संदेश लेकर आई है, एक अवसर लेकर आई है। उन्होने एक उदाहरण देते हुए कहा कि जब कोरोना संकट शुरू हुआ, तब भारत में एक भी पीपीई किट नहीं बनती थी। एन-95 मास्क का भारत में नाममात्र उत्पादन होता था। आज स्थिति ये है कि भारत में ही हर रोज 2 लाख PPE और 2 लाख एन-95 मास्क बनाए जा रहे हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी ने देश की अर्थव्यस्था में उछाल लाने के लिए पांच पिलर्स का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की ये भव्य इमारत, पाँच Pillars पर खड़ी होगी। ये है- पहला इकोनॉमी, दूसरा इंफ्रास्ट्रक्चर, तीसरा सिस्टम, चौथा डेमोग्राफी और पांचवां डिमांड। उन्होंने कहा कि थकना, हारना, टूटना-बिखरना, मानव को मंजूर नहीं है। सतर्क रहते हुए, ऐसी जंग के सभी नियमों का पालन करते हुए, अब हमें बचना भी है और आगे भी बढ़ना है। 

पीएम मोदी ने कहा कि आज से हर भारतवासी को अपने लोकल के लिए ‘वोकल’ बनना है। हमें न सिर्फ लोकल प्रॉडक्ट्स खरीदने हैं, बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है। मुझे पूरा विश्वास है कि हमारा देश ऐसा कर सकता है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि  विश्व के सामने भारत का मूलभूत चिंतन, आशा की किरण नजर आता है। भारत की संस्कृति, भारत के संस्कार, उस आत्मनिर्भरता की बात करते हैं जिसकी आत्मा वसुधैव कुटुंबकम है। उन्होंने कहा कि दुनिया को विश्वास होने लगा है कि भारत बहुत अच्छा कर सकता है, मानव जाति के कल्याण के लिए बहुत कुछ अच्छा दे सकता है। सवाल यह है कि आखिर कैसे? इस सवाल का भी उत्तर है-130 करोड़ देशवासियों का आत्मनिर्भर भारत का संकल्प। 

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से मुकाबला करते हुए दुनिया को 4 महीने से ज्यादा समय बीत गया। इस दौरान तमाम देशों के 42 लाख से ज्यादा लोग करुणा से संक्रमित हुए पौने तीन लाख लोगों से ज्यादा की दुखद मृत्यु हुई है। भारत में भी अनेक परिवारों ने अपने परिवारी जनों को खोया है। मैं सभी के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। साथियों एक वायरस ने दुनिया को तहस-नहस कर दिया। विश्व भर में करोड़ों जिंदगियों को संकट का सामना कर रही है। सारी दुनिया जिंदगी बचाने में जंग में जुटी हुई है।

 

Leave a Reply