Home समाचार योगेंद्र यादव को उनकी सोसायटी से बाहर निकालने सड़क पर उतरे लोग,...

योगेंद्र यादव को उनकी सोसायटी से बाहर निकालने सड़क पर उतरे लोग, देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का लगाया आरोप

626
SHARE

दिल्ली में हुए उपद्रव और तिरंगे के अपमान को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। किसान नेताओं के खिलाफ लोगों में काफी गुस्सा देखा जा रहा है। जहां स्थानीय लोग धरना दे रहे किसानों को सड़क खाली करने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं किसान नेताओं को अपने पड़ोसियों से भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली के आईपी एक्सटेंशन के निवासियों ने योगेंद्र यादव के खिलाफ प्रदर्शन किया और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने का आरोप लगाया।

योगेन्द्र यादव को उनकी सोसायटी से बाहर निकालने के लिए लोग सड़क पर उतर आए। गौतम अग्रवाल ने इसकी जानकारी देते हुए अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, “भारत विरोधी गतिविधियों के लिए किसान यूनियन नेता योगेंद्र यादव के निवास के बाहर आईपी एक्सटेंशन दिल्ली के निवासियों द्वारा विरोध प्रदर्शन। लोगों ने अपनी सोसायटी की प्रबंध समिति से कहा है कि वह अपना फ्लैट खाली करवा लें क्योंकि वह भारत के लिए खतरा है।”

प्रदर्शन कर रहे स्थानीय और सोसायटी के लोगों में योगेंद्र को लेकर काफी नाराजगी है। लोगों ने न सिर्फ योगेंद्र यादव मुर्दाबाद के नारे लगाए, बल्कि उनकी तस्वीरों को जलाया और पैरों से रौंदा। काफी संख्या में मौजूद आक्रोशित लोगों ने नारा गया कि हमें चाहिए गद्दारों से आजादी, योगेंद्र यादव से आजादी। लोगों ने योगेंद्र यादव को गिरफ्तार करने की भी मांग की।

योगेंद्र यादव को लोगों के इस गुस्से का अंदाजा हो चुका था। इसलिए उन्होंने बृहस्पतिवार (28 जनवरी) को अपने फेसबुक पेज से लाइव कर वीडियो में रोते हुए ये कहते सुने गए थे कि लोग उनके घर पर हमला करने वाले हैं। इस वीडियो में यादव ने कहा कि जो लोग मुझे राष्ट्रवाद पर लेक्चर दे रहे हैं, उन्हें मेरे परिवार की विरासत के बारे में कोई जानकारी नहीं।

गौरतलब है कि किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने योगेंद्र यादव और बलबीर सिंह राजेवाल सहित लगभग 20 किसान नेताओं को नोटिस जारी किया है। पुलिस ने उन्हें तीन दिनों के भीतर अपनी प्रतिक्रिया देने को कहा। रिपोर्ट्स के अनुसार, एक अधिकारी ने कहा कि इन किसान नेताओं को नोटिस जारी किए गए हैं क्योंकि उन्होंने मंगलवार को ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित शर्तों का पालन नहीं किया था।

Leave a Reply