Home समाचार कनाडा में मृत पाई गईं पाक बलूच एक्टिविस्ट करीमा बलोच, रक्षाबंधन पर...

कनाडा में मृत पाई गईं पाक बलूच एक्टिविस्ट करीमा बलोच, रक्षाबंधन पर पीएम मोदी को ‘भाई’ बोल की थी अपील

754
SHARE

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में सेना की बर्बरता के खिलाफ आवाज उठाने वाली महिला एक्टिविस्ट करीमा बलोच की कनाडा में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। रविवार से लापता बताई जा रही करीमा का शव टोरंटों में पाया गया। 2016 में रक्षाबंधन पर बलोच स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन की अध्यक्ष करीमा बलोच ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपना भाई बताते हुए एक भावुक वीडियो संदेश जारी किया था।

संयुक्त राष्ट्र संघ में भी पाक की उड़ाई थीं धज्जियां
करीमा बलोच रविवार शाम से लापता बताई जा रही थीं। उन्हें शाम तीन बजे के आसपास अंतिम बार देखा गया था। अब उसके परिवार ने पुष्टि की है कि करीमा का शव मिल गया है। करीमा बलोच को पाकिस्तानी सरकार और सेना के खिलाफ सबसे मुखर आवाज माना जाता था। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में भी बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना के अत्याचारों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की थी।

पाकिस्तानी सेना-आईएसआई पर शक
संदिग्ध परिस्थितियों में हुई उनकी मौत को लेकर पाकिस्तान सरकार और उनकी खुफिया एजेंसी आईएसएई के ऊपर भी संदेह जताया जा रहा है। बीबीसी ने भी 2016 में करीमा बलोच को दुनिया की 100 सबसे प्रेरणादायक और प्रभावशाली महिलाओं में से एक के रूप में नामित किया गया था।

पीएम मोदी को मानती थीं भाई
साल 2016 में करीमा बलोच ने पीएम मोदी को भाई बताते हुए कहा था कि रक्षाबंधन के दिन बलूचिस्तान की एक बहन भाई मानकर आपसे कुछ कहना चाहती है। बलूचिस्तान में कितने ही भाई लापता हैं। कई भाई पाक सेना के हाथों मारे गए हैं। बहनें आज भी लापता भाइयों की राह तक रही हैं। हम आपको ये कहना चाहते हैं कि आपको बलूचिस्तान की बहनें भाई मानती हैं। आप बलोच नरसंहार, युद्ध अपराध और मानवाधिकार हनन के खिलाफ अंतराष्ट्रीय मंचों पर बलोचों और बहनों की आवाज बनें।’

पीएम मोदी ने लाल किले से किया था जिक्र
गौरतलब है कि 2016 में ही स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर व बलूचिस्तान के लिए स्वतंत्रता का समर्थन किया था। स्वतंत्रता दिवस के भाषण में पहली बार किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने इन क्षेत्रों का उल्लेख किया था। उसके बाद से ही करीमा ने यह अपील की थी।

Leave a Reply