Home समाचार ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में चला पीएम मोदी का जादू, अल्पसंख्यकों में दिखा...

‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में चला पीएम मोदी का जादू, अल्पसंख्यकों में दिखा खासा उत्साह

756
SHARE

चाहे भारत हो या विदेश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जादू लोगों के सर चढ़कर बोलता है। वे अपने चाहने वालों के दिलों पर राज करते हैं। इसका एक बड़ा गवाह बना अमेरिका के ह्यूस्टन स्थित एनआरजी स्टेटियम में आयोजित ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम। प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत में एनआरजी स्टेडियम में हजारों की तादाद में भारतीय प्रवासी पहुंचे। जिसमें मुस्लिमों के साथ साथ अन्य अल्पसंख्यक समुदाय की काफी भीड़ देखने को मिली। वे सभी भारतीय होने के नाते पीएम मोदी को सपोर्ट करने के लिए पहुंचे थे। सभी के चेहरे पर भारी उत्साह दिख रहा था। वे मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे। 

इस अवसर पर एनआरजी स्टेडियम में जश्न का माहौल दिखा। स्टेडियम के एक हिस्से में ज्यादातर मुस्लिम ही दिखे। भारत के विभिन्न भागों से आने वाले मुस्लिम समुदाय में महिलाएं और पुरुष भी शामिल थे, जो परंपरागत परिधानों में पहुंचे थे, जिससे स्टेडियम में उत्सव का नजारा दिख रहा था।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने यहां रविवार को एनजीआर स्टेडियम में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में भाग लेने से पहले दाऊदी बोहरा समुदाय के लोगों से बातचीत की। समुदाय के सदस्यों ने पीएम मोदी का अभिनंदन किया और समुदाय के आध्यात्मिक प्रमुख सैयदना साहिब से प्रधानमंत्री के लगाव पर रोशनी डाली। उन्होंने यह भी याद किया कि वह पिछले साल इंदौर में हुए समुदाय के कार्यक्रम में पहुंचे थे।


मुस्लिम दाऊदी बोहरा समुदाय के लोग आम तौर पर पश्चिमी भारत से ताल्लुक रखते हैं। माना जाता है कि मुस्लिमों के इस समुदाय में पीएम मोदी की अच्छी पकड़ है। पीएम मोदी ने इस समुदाय के लोगों से मुलाकात के बाद ट्वीट कर कहा, ‘दाऊदी बोहरा समुदाय ने खुद को दुनिया भर में प्रतिष्ठित किया है। ह्यूस्टन में मुझे इस समुदाय के लोगों से मिलकर कई विषयों पर बात करने का मौका मिला।’

इसके बाद पीएम मोदी ने सिख समुदाय के लोगों से भी मुलाकात की। इस दौरान ‘जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल’ का उद्घोष भी हुआ। दरअसल इस मीटिंग का उद्देश्य दुनिया भर को यह संदेश देना है कि सिख समुदाय के कुछ लोगों के विवादित बयानों के बावजूद ये लोग अब भी भारत के साथ हैं। दरअसल, कुछ लोग ‘कश्मीर खालिस्तान रेफरेंडम फ्रंट’ के जरिए सिख समुदाय के लोगों को बरगलाने की कोशिश कर रहे हैं।

सिख समुदाय के लोगों ने पीएम मोदी से मुलाकात कर करतारपुर कॉरिडोर की शुरुआत के लिए धन्यवाद दिया। इस दौरान कुछ लोगों ने इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट का नाम गुरु नानक देव इंटरनैशनल एयरपोर्ट करने की मांग की।

पीएम मोदी की इस मुलाकातों से पाकिस्तान का वह प्रॉपेगैंडा भी फेल हो गया जिसमें वह भारतीय अल्पसंख्यकों को लेकर फर्जी खबरें फैलाता रहता है। पाकिस्तान की तरफ से लगातार भारत की ‘अल्पसंख्यक विरोधी’ छवि बनाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन अमेरिका में मोदी सरकार के प्रतिनिधियों ने एक के बाद एक कई बैठक कर इस नैरेटिव को पूरी तरह परास्त कर दिया। दुनियाभर में भारत की विविधता को दिखाने और पाकिस्तान द्वारा बनाई गई भारत की ‘हिंदूवादी छवि’ का जवाब देने के लिए पीएम मोदी ने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से अमेरिका में मुलाकात की।

Leave a Reply