Home समाचार मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को दी बड़ी सौगात, महंगाई...

मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को दी बड़ी सौगात, महंगाई भत्ते में 3 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ डीआर की अतिरिक्त किस्त जारी करने की दी मंजूरी

499
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारियों को बड़ी सौगात दी है। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में बुधवार (30 मार्च, 2022) को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले किए गए। केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता (डीए) तीन प्रतिशत बढ़ाने और पेंशनधारियों के लिए महंगाई राहत (डीआर) की अतिरिक्त किस्त जारी करने की मंजूरी दी गई। यह किस्त 1 जनवरी 2022 से प्रभावी होगी। इससे पहले अक्टूबर 2021 में कर्मचारियों के डीए को 28 प्रतिशत से बढ़ाकर 31 प्रतिशत करने का फैसला किया गया था।

34 प्रतिशत हुआ महंगाई भत्ता

अभी केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 31 प्रतिशत के हिसाब से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है। लेकिन इसे 3 प्रतिशत बढ़ाकर 34 प्रतिशत कर दिया गया है। केंद्रीय कर्मचारियों को अप्रैल के वेतन के साथ में नए महंगाई भत्ते का पूरा पेमेंट किया जाएगा। अप्रैल के महीने में कर्मचारियों को उनका पिछले 3 महीने का सारा एरियर भी दिया जाएगा। 3 प्रतिशत महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी के बाद केंद्रीय कर्मचारियों को 73,440 से लेकर 2,32,15,220 रुपये तक के एरियर का लाभ मिलेगा।


1.16 करोड़ लोगों को होगा फायदा

महंगाई भत्ते में यह अतिरिक्त बढ़ोतरी स्वीकृत नियम के अनुसार है, जो सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों पर आधारित है। महंगाई भत्ते और महंगाई राहत के कारण सरकारी खजाने पर कुल 9,544.50 करोड़ रुपये प्रति वर्ष का भार पड़ेगा। इससे केंद्र सरकार के करीब 47.68 लाख कर्मचारियों और 68.62 लाख पेंशनर्स को फायदा मिलेगा।

डीए में हर साल दो बार होती है बढ़ोतरी

सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक साल में दो बार जनवरी और जुलाई में महंगाई भत्ता और महंगाई राहत में बढ़ोतरी की जाती है। ये बढ़ोतरी छमाही आधार पर की जाती है। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों का डीए-डीआर बढ़ाने के फैसले के बाद राज्य सरकार के कर्मचारियों को भी भत्तों में बढ़ोतरी की उम्मीद हो जाती है। देर-सवेर राज्य सरकारों को भी अपने कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को ये फायदे देने पड़ते हैं। 

 

Leave a Reply